Modalism Gnosticism से उत्पन्न हुआ?

पुस्तक "निम्नलिखित अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद किया गया। अनुवादक Google Talk के माध्यम से हम यह नहीं है कि एक पूर्ण क्षमा अनुवाद हिंदी में मौलिक पुस्तक में अंग्रेजी

 

 

Modalism Gnosticism से उत्पन्न हुआ?

Did Modalism Arise from Gnosticism?

 

 

ऐतिहासिक साक्ष्य है कि यह साबित करना | स्टीवन Ritchie Modalism उछल Gnosticism से?

ब्रह्मविग्यानों Trinitarian एरियन या उसके बाद से निकलती है? Gnosticism Platonic

 

 

कुछ ने सु३ााव दिया है कि प्रारंभिक Modalistic Monarchian हड़ताल करने के रूप में जाना जाता है) से विकसित धर्मशास्त्र (धर्मशास्त्र के प्रारंभिक विचार Gnostic''demiurge Platonic यूनानी दर्शन है। इस दावे को सिद्ध करने के लिए कोई ऐतिहासिक प्रमाण मिलते हैं?

 

 

इसमें तीन मुख् य कारण कुछ सु३ााव दे रहे हैं। Gnosticism Trinitarians Modalism विकसित की गई से

 

 

1. सर्वप्रथम, साइमन कमीशन के रूप में परिवर्तित किया गया है, जो Magus अधिनियमों में अध्याय 8, बाद में Samaria सिखाया जाता है कि वह अपने पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा है।

 

 

इस कारण कुछ Trinitarians साइमन ने आरोप लगाया है कि पहली Magus Modalism सिखाने के लिए विचार है। हालांकि, यह भी संभव है कि साइमन कमीशन का पता चला कि धर्मशास्त्र का प्रथम शताब्दी से Modalism मूल्योंके संवर्धन और बाद में स्वयं को यदि वह ल्यूटिएंस जी-हजूरी करते फिरते हैं-पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा के रूप में एक व्यबक्त हैं। यदि के लिए जी-हजूरी करते फिरते पढाया था एक व् यक् ति की अलौकिकता ईश्वर पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा की नकल की संभावना है, तब साइमन कमीशन का आरोप लगाते हुए कि वे स्वयं को जी-हजूरी करते फिरते धर्मशास्त्र का पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा के रूप में एक व्यक्ति है।

 

 

यह कल्पना करना कठिन है कि कुछ नहीं होता, साइमन की शिक्षाओं से प्रभावित है। जी-हजूरी करते फिरते यदि किसी व्यक्ति को जी-हजूरी करते फिरते थे तीन दिव्य अध्यापन त्रिमूर्ति में पहली शताब्दी के बाद यह संभावना का दावा है कि वह एक साइमन कमीशन के आरोप में तीन व्यबक्तयों की बजाय एक व्यक्ति के रूप में अपने सभी तीनों अपययपूर्ण

 

 

Wikipedia कहते हैं, ''उनकी (शहीद जस्टिन क्षमायाचना में खो दिया है, जो अपना काम heresies Irenaeus के रूप में प्रयोग तथा मुख्य स्रोत (Irenaeus Adversus Haereses) अभिलेख है कि बाद में ढला से आए जहां रोम, साइमन Magus जी-हजूरी करते फिरते हैं, में शामिल करने के लिए स्वयं एक दुष्ट स्त्री का नाम दिया गया है कि उसने हेलेन झड़ने यहूदियों के रूप में, पिता और पुत्र को अन्य देशों के बीच Samaria पवित्र आत्मा है। वह ऐसे चमत्कार जादू था कि वह क्लाडियस अधिनियमों के शासनकाल में माना और ईश् वर से सम्मानित किया गया है, जो मूर्ति Tiber द्वीप में दो पुलों पर सडक पार के शिलालेख है, "Simoni देव Sancto) (साइमन कमीशन के पवित्र देवता' (26), Apologia

 

 

जबस्टन में ''Dialogus वहबंगलौर की पहली समस् त परिवार उसकी क्षमा (सी. वह जो मनुष् य के रूप में वर्णन साइमन Tryphonem), पर दानवों, ईश् वर का दावा किया है। जबस्टन कहते हैं कि आगे आए साइमन रोम के शासनकाल में सम्राट क्लाडियस और उनके जादू कला के अनुयायियों ने बनवाया है ताकि ये द्वीप में उन्हें देवत्व की एक प्रतिमा Tiber शिलालेख 'साइमन कमीशन के पवित्र ईश्वर है।'

 

 

नामक पुस्तक में मैंने कहा, "मूल त्रिमूर्ति को प्रस्तुत करता हूं,'' की मूर्ति-पूजा के रूप में एक ऐतिहासिक आंकडे दर्शाते हुए trinities

 

 

उदाहरण के लिए, जेम्स हेभस्टग्स को लिखा:

 

 

''आचार और धर्म के विश्वकोश में भारतीय धर्म, उदाहरणार्थ, हम trinitarian समूह के ब्रह्मा, शिव और Visnu मिस्र में; और धर्म के साथ trinitarian Osiris का समूह है, और न ही Horus …. डी. एस. के ऐतिहासिक धर्म ईश् वर के रूप में देखा है कि हम यह पाते हैं स ९ त्रिमूर्ति एक साहसिककृत्य को विशेष रूप से Neo-Platonic विचारों का चरम वास् तविकता है।" प्रतिनिधित्व triadically उच्चतम या

 

 

कुछ Trinitarians ने इन आरोपों का खंडन किया कि मेरे विचार से आया था, paganism त्रिमूर्ति का आरोप लगाते हुए कि उसे विकृत करने की नकल शैतान त्रिमूर्ति द्वारा तीन मूर्ति देवताओं अब यदि किसी और विकृत हो सकते हैं जिनकी नकल कथित रूप से शैतान तथाकथित एकैश्वरवादात्मक त्रिमूर्ति है तो यह भी समान रूप से शैतान को कॉपी करना संभव है और विकृत एकैश्वरवादात्मक Modalism साइमन Magus है।


 

चूंकि यह है कि कोई व्यक्ति उपस्थित नहीं Modalism हड़ताल करने के अलावा, ईश् वर है और चूंकि Modalism ईसा मसीह रक्षा में विश्वास नहीं है," "प्रैक्टिस जादू कला साइमन Magus विकृत स् पष् ट है कि अधिकतर द्वारा हड़ताल करने की जी-हजूरी करते फिरते धर्मशास्त्र खुद को ईश्वर बाइबल के हैं।

 

 

2-), दूसरे कुछ विद्वानों Trinitarian बेबुनियाद आरोप लगाते हुए कि Sabellius हैं और सूर्य की किरणों का उपयोग कर पॉलिप Gnosticism सिखाया उदाहरण के रूप में अपने पिता के पुत्र के रूप में भेजने की किरण स्वयं (जैसे कि "demiurge").

 

 

YouTube पर एक वीडियो, श्री आर.सी. की जनता को विश्वास है कि ३ाूठ कापुलिंदा उद्देश्यपूर्ण Sproul के बीच संबंध और Gnosticism की शिक्षाओं के रूप में प्रयोग के कारण Sabellius Sabellius सूर्य की किरणें अपने पिता को बाहर भेजने के सदृश प्रकाश के रूप में पृथ्वी के पुत्र के अवतार माना जाता है।

 

 

दोनों Trinitarian मूल्योंके संवर्धन और अध्यापकों के उदाहरण से गरीब पढाया जा रहे जल वाष्प उत्पन्न द्रव रूप में, और जैसा कि बर्फ को समझाने के लिए ईश्वर पिता, पुत्र और पवित्र आत्मा है। अभी तक कोई भी यह आरोप है कि जल वाष्प उत्पन्न होनेवाले को भाप बॅंड या पानी में होनेवाले या बर्फ से पता चलता है कि हममें से कोई विश्वास में आरंभिक emanations Gnosticism है। साथ ही सच है कि उदाहरण के रूप में सूर्य की किरणें एक अवतार माना जाता है।

 

 

यह केवल अनुसूचियोंको Sabellius दिया गया सदृश सूर्य के उदाहरण के रूप में, पिता और उसका पुत्र को किरणों श्री Sproul ने कोई ऐतिहासिक डाटा से पता चलता है कि Sabellius सिखाया ब्रह्मवाद है। किसी भी प्रस्तुत किया और न ही श्री Sproul ऐतिहासिक डाटा से पता चलता है कि उदाहरण के रूप में प्रयुक्त चट्टानों Sabellius कभी ईश्वर के अवतार के रूप में रूपांतरित मांस पुत्र।

 

 

इसके अतिरिक्त, प्राय: बेबुनियाद आरोप लगाया कि Sabellius Trinitarians ministered (जो 1940 के दशक के प्रारंभ में तीसरी शताब्दी के मध्य से) के पहले के प्रयोग को पूर्वकी सूर्य के उदाहरण के रूप में, पिता ने पुत्र को भेजने की किरण स्वयं अवतार के रूप में है।

 

 

(130-160 के बारे में लिखित माफी की पहली जबस्टन में 63 ईस्वी), जबस्टन (क) का उल्लेख किया है जो ईसाई एरियन सेमीफायनल में समकालीन हानिकारकनहीं पुत्र पिता है।

 

 

' पुत्र को स्वीकार किया है कि वह साबित न हो, पिता से परिचित हैं, न कि पिता के पिता ने पुत्र की सृष्टि के

 

 

आगे बातचीत के भीतर संव र्धित जस्टिन' … मूल्योंके संवर्धन की दूसरी सदी के साथ अपनी बातचीत में Trypho 128. दूसरी शताब्दी के प्रारंभ के अनुसार जबस्टन थीं, वे ईसाइयों के पुत्र पिता से अभिन्न अंग मानते हैं कि ''सूर्य के प्रकाश के रूप में (धरती पर सूर्य की किरणें पड़ती सूर्य से अभिन्न अंग है और अविभाजित) आकाश में है।'

 

 

'मगर कुछ सिखा (अन्य ईसाइयों) यह शक्ति (पुत्र) का अभिन्न अंग है और अविभाज्य पिता से ही धरती पर सूर्य के प्रकाश और अविभाज्य है; आकाश में सूर्य से अवियोज्य अंगहै, जब सूर्य के प्रकाश में, इसके लिए सैट कामातुर पृथ्वी से अत: उनका दावा है कि वे अपने पिता को, ईसाइयों) (अपनी शक्ति होगी और आगे जाने का कारण हो सकता है, जब वह फिर से

 

 

यहां हम पाते हैं कि आरंभिक ईसाइयों का इस्तेमाल किया था..." के सदृश धूप (130-160) का प्रयोग Sabellius (217-260) में करीब एक सौ साल बाद उदाहरण के रूप में, पिता और पुत्र।

 

 

ऐतिहासिक साक्ष्य सिद्ध होता है कि ''demiurge' की संकल्पना को पहली बार में पढाया Platonic लगभग 310 ईसा पूर्व में शुरु यूनानी दर्शन है। बाद में Gnostics उधार की संकल्पना को "demiurge यूनानी दर्शन' से 'अधीनस्थ देवता' से उच्चतर देवता है। ''को परिभाषित वेब्सटर एंड शेली की Merriam Demiurge' जो देवता की :- (क) अधीनस्थ Platonic फैशन जगत में शाश्वत विचारों के प्रकाश में सार्थक (ख) अधीनस्थ Gnostic देवता है जो सृष्टिकर्ता की सामग्री है।

 

 

हर कोई जानता है कि ''एक पुत्र Modalists शिख्रण नहीं थे।" अत: जब वह अपने अधीनस्थ देवता की निंदा Hippolytus अभियुक्तों के शिख्रण Modalists वही "Heraclitus'' ''Semi-Arians क्योंकि वे तथा अन्य जैसे (जैसे Tertullian), आरोप लगा रहे थे कि उनके पुत्र एक अधीनस्थ दैवी व्यक्ति द्वारा उत्पादित पिता से पहले संसार की सृष्टि है। सिखाया कि पुत्र को Modalists वही है जो कि 1923 के पिता और पुत्र पिता की शाश्वत बना हुआ करता था। प् लान,'' और ''Hippolytus Semi-Arians में विश्वास का एक अधीनस्थ पुत्र को दुनिया के सामने का गठन किया गया था। इस तरह हम देखते हैं कि Hippolytus Semi-Arians की शिक्षाओं के साथ जुडा हुआ है और इस विचार को एक 'demiurge' (एक अधीनस्थ दैवी व्यक्ति द्वारा नियोजित) के कुछ Platonic यूनानी दार्शनिकों, जबकि "demiurge' से कोई संबंधनहीं की शिक्षाओं Modalism!


 

नई Schaff-Herzog विश्वकोश का धार्मिक ज्ञान की ऐतिहासिक दस्तावेजों को स्पष्ट रूप से प्रभाव पड़ा कि यूनानी दर्शन के विकास पर त्रिमूर्ति है :---

 

 

''सिद्धांत को उनके आकार और त्रिमूर्ति लोगो से प्राप्त हुए थे, यूनानी पिताओं … द्वारा प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से काफी प्रभावित हुए कि … दर्शन Platonic त्रुटियों और भ्रष्टाचार े९ मामले रोज उजा ार हो फा इल चर्च के इस स्रोत से इनकार नहीं किया जा सकता है।''

 

 

नामक पुस्तक में चर्च के पहले तीन शताब्दियों में कहते हैं,

''धीरे-धीरे के सिद्धांत का गठन किया गया था और अपेक्षाकृत देर त्रिमूर्ति ने अपने मूल स्रोत के रूप में रुचि … से पूरी तरह विदेशी यहूदी औरईसाई धर्म-ग्रंथों; … यह हुआ था, और ईसाई धर्म के माध्यम से हाथ पर engrafted Platonizing निर्माताओं है.''

 

 

ऐतिहासिक साक्ष्य को साबित करता है कि संविधान निर्माताओं के सिद्धांत'' के रूप में जाना जाता था, ''ग्रीक त्रिमूर्ति निर्माताओं द्वारा प्रभावित थे क्योंकि वे ''' से दर्शन Platonic प्लेटो और अन्य यूनानी दार्शनिकों जो 'demiurge' की संकल्पना के एक छोटे देवता की शिक्षा से उच्चतर देवता है। इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि पॉल ने चेतावनी सूचक यूनानी नगर के माध्यम से किसी भी व्यक्ति को 'सावधान लेवी Colossae मिथ् या आप दर्शन (2:Colossians 8-12) …"

 

 

यह दावा स ९सप्र ९ार से पाखंड जब Trinitarians Modalism demiurge यूनानी दर्शन की मूर्ति है, जब यह साबित होता है कि ऐतिहासिक प्रमाणों के सिद्धांत से आया कि एरियन और Trinitarian मूर्ति दर्शन है।

 

 

यह स्पष्ट है कि मु३ो इस बात से इंकार Trinitarians amazes प्रलेखित ऐतिहासिक प्रमाण हैं कि यह सिद्ध करना, Hippolytus Origen जस्टिन, और कुछ हद तक Tertullian से प्रभावित थे, ''demiurge'' का सिद्धांत यूनानी मूर्ति प्रसर्जन हेतु अपेक्षाओं दर्शन है। इससे भी अधिक आश् चर्यजनक तो न केवल Trinitarians का खंडन होता है, लेकिन वे साक्ष्य हैं कि यह आरोप बेबुनियाद से पाखंड अंधे जो अपने सिद्धांत'' से प्राप्त Modalists demiurge यूनानी दर्शन का एक ऐतिहासिक प्रमाण प्रस्तुत किए बिना उनके दावे को न्यायोचित ठहराने का टुकडा इसलिए मॅँ सभी चुनौती Trinitarian इतिहासकारों, विद्वानों और होने वाले स्वयंस्फूर्त उत्परिवर्तनों के एक उदाहरण हैं जो कभी किसी नये कामगारों को उद्धृत किया है या ईसाई Modalist शीघ्र यूनानी दार्शनिकों है।

 

 

जबस्टन, Hippolytus, Tertullian Origen और पुरुषों में सर्वाधिक प्रभावशाली थे कि यूनानी दार्शनिक के बीज बोए है, लेकिन इन पुरुषों के सिद्धांत विकसित त्रिमूर्ति हैं क्योंकि वे मानते हैं कि ''के रूप में जाना जाता है।" Semi-Arians पुत्र पिता द्वारा पैदा की गई थी, जो देवता अधीनस्थ तथापि, उन्होंने Sonship Origen यद्यपि बाद शाश्वत सिखाया पर आयोजित की जा रही 'demiurge के पुत्र का विचार अधीनस्थ' द्वारा पढाया यूनानी दार्शनिकों है। यद्यपि Wherefore Trinitarian सिद्धांत'' की अवधारणा से कम एक अधीनस्थ (यूनानी दर्शन demiurge देवता से उच्चतर देवता) की आरंभिक आरोप बेबुनियाद Trinitarians पाखंड की बात है कि प्रारंभिक कैथोलिक निर्माताओं के लिए Modalists ही नहीं किया।

 

 

3-) तीसरा, कुछ विद्वानों की पुस् तक के सभी Heresies Trinitarians73Hippolytus पुस्तक (9) अध्याय 5 से हुआ, यह दिखाने के लिए कि Modalism Heraclitus (535-475 ईसा पूर्व) से एक मूर्ति यूनानी दार्शनिक

 

 

(535-475 ईसा पूर्व) से मिलते-जुलते Heraclitus मूर्ति से कहा

 

 

Hippolytus बेबुनियाद आरोप लगाया कि उनकी शिक्षा के शिक्षकों और अन्य Noetus Monarchian पांचवी शताब्दी ईसा से प्राप्त एक यूनानी दार्शनिक Heraclitus नाम है।

 

 

एकमात्र वैध ऐतिहासिक संबंध है कि Trinitarians करने का आरोप है कि Modalism Gnosticism Hippolytus', 'कार्य से उछल से सभी के खिलाफ Heresies' पुस् तक 9, अध्याय 5(प्रारंभिक तीसरी शताब्दी)।

 

 

"लेकिन इस अध्याय में व् याख् या की संपूर्ण विशेषता के साथ-साथ Heraclitus उनके सोचने के तरीके, परन्तु उसी समय (विशिष् ट गुण) के विरुद्ध मत के Noetus है। और मॅँ संक्षेप में प्रदर्शित नहीं किया जा सकता है किंतु ईसा के शिष्य Noetus Heraclitus की है। दार्शनिक के लिए इस प्रकार उकेरते हैं- देवताओं द्वारा दावा करते हैं कि दुनिया में ही Demiurge और जनक स्वयं में निम्नलिखित है : "ईश्वर है; रात दिन, शांति और युद्ध, ग्रीष्म, सभी चीजें हैं.'', अकाल परिवृत्ति; ------------ उनकी यह प्रकट contraries का अर्थ होता है तो है, लेकिन एक"हस्ताख्ररअथवा आद्याख्रर के साथ मिला दिया गया था, लेकिन अगरबत्ती प्रकारके oilier स्टलिंग के अनुसार प्रत्येक प्रकार'

 

 

Hippolytus आनंदपूर्ण सनसनी पैदा नहीं थी कि उनके लिए पर्याप्त सबूत झूठा आरोप एक प्राचीन नाम से अपने अध्यापन प्राप्त Modalists मूर्ति दार्शनिक Heraclitus है। इनमें से कहा कि "ईश्वर या लिखी Modalists दिन-रात शीतकालीन...." और अधि ९ है। न ही है।

 

 

विभिन्न मतों का वर्णन Irenaeus Gnostic रोमन साम्राज्य जो पूरे समय के दौरानइंजीनियरिंग तथा Praxus Noetus (Modalists) और आरंभिक Modalistic बिशप्स रोम के अंत में दूसरी और तीसरी शताब्दी के प्रारंभ में इस संबंध में परंपरागत रूप से उपस्थित हुए Irenaeus Modalistic Monarchians रोमन का दौरा किया, क्योंकि वह विज्ञापन में 178-179 Eleutherius धर्माध्यक्ष माना कि रोमन बिशप Eleutherius Tertullian प्रसन्नतापूर्वक Modalistic धर्मशास्त्र के खिलाफ (Praxus प्राप्त Praxus 1-3) में 178-179 विज्ञापन है। समझा जाता है कि यदि Irenaeus Modalists से प्रभावित थे, तो जाहिर है कि वे Gnostic विश्वासों को शामिल किया गया है।'' में लिखा है चूंकि Irenaeus Modalists Heresies के विरुद्ध नहीं है, समूह के रूप में इस बात का कोई प्रमाण नहीं Modalists Gnostic सु३ााव देती है कि Gnostics Modalists हुई है और इसी विश् वास है।

 

 

इसके अतिरिक्त, Wikipedia के मुताबिक, ''demiurge द्वारा नियोजित नहीं था।'' (310 ई. पू. तक यूनानी दार्शनिकों Platonic 535-475 ईसा से रहते थे, लेकिन Heraclitus) जो उसे ''शब्द के प्रयोग से disconnects demiurge" यूनानी दार्शनिकों के बीच है।

 

 

"...।demiurge Wikipedia कहते हैं) में पाया गया था (Platonic (310 ई. पू.) और 90-अवधि (से मध् य में) (ग (Platonic ----- 300 ईस्वी) (90 ई. पू.) में दार्शनिक परंपराएं हैं। विभिन्न शाखाओं में 310 ई. पू.) के बाद स्कूल (Neoplatonic का, demiurge है, वास् तविक fashioner अवगम्य हो जाने के बाद दुनिया के मॉडल के विचारों, लेकिन (अधिकतर Neoplatonic प्रणालियां) अभी भी नहीं है।' 'एक ही मेहराब में-dualist विचारधारा के विभिन्न Gnostic प्रणालियों, भौतिक सृष्टि बुराई है, जबकि गैर-सामग्री विश्व अच्छी है। तद्नुसार, demiurge है जिससे कुदरती तौर पर, भौतिक दुनिया से जुड़ी हुई है।'

 

 

' के रूप में परिभाषित किया है, ''Demiurge Merriam वेब्सटर एंड शेली की हैं :- (

क) जो देवता के एक अधीनस्थ Platonic फैशन जगत में शाश्वत विचारों के प्रकाश में सार्थक

(ख) अधीनस्थ Gnostic देवता है जो सृष्टिकर्ता की सामग्री है।

 

 

"विचार की रक़म Wherefore, Gnostics demiurge Platonic यूनानी दर्शन' से है जिसमें उच्च पूरी लोकातीत ईश्वर उत्पादित 'अधीनस्थ देवता' बनाने के लिए भौतिक दुनिया है। हर कोई जानता है कि ''एक पुत्र Modalists कभी सिखाया।" अत:, क्योंकि वह अपने अधीनस्थ देवता की निनदा की तथा अन्य "Semi-Arians Hippolytus जैसे' (जैसे Tertullian), आरोप लगा रहे थे कि उनके पुत्र एक अधीनस्थ दैवी व्यक्ति द्वारा उत्पादित पिता से पहले संसार की सृष्टि है।

 

 

प्रारंभिक Modalists पढाया था कि पुत्र अपने पिता के सार यही है कि ईश्वर का पुत्र था और जो हमेशा शाश्वत पिता बने प् लान, जो एक पुत्र विश् वास Hippolytus बनाया गया था, ''के रूप में संसार के समक्ष पुत्र' अधीनस्थ बनाया गया था। इस तरह हम देखते हैं कि Hippolytus Semi-Arians की शिक्षाओं के साथ जुडा हुआ है और इस विचार को एक 'demiurge' (एक अधीनस्थ दैवी व्यक्ति द्वारा नियोजित) के कुछ Platonic यूनानी दार्शनिकों के प्रयोग के संबंध में कोई' शब्द "demiurge की शिक्षाओं से Modalism!

 

 

मूर्ति ने आरोप लगाया है कि Hippolytus है।

 

 

वैषम् Noetus 10-11 Hippolytus ने लिखा था,

"ईश् वर के साथ खुद ही प्रवृत्त था और कुछ गएसमकालीन प्रलेखों निर्धारित करने के लिए है। और विश्व के मन में बोले और और इच्छुक संकल्पनाकरते शब्द, उन्होंने इसे; और सीधे ऐसा प्रतीत होता है, उसे यह वरदान के रूप में बनाई गई थी। हमारे लिए तो यह जानते हैं कि कुछ भी करने के लिए पर्याप्त है, जो ईश् वर के साथ गएसमकालीन प्रलेखों उनके पास ऐसा कुछ नहीं था, लेकिन वह अभी भी विद्यमान है, जबकि केवल 07 ९ बहुसमुदायवाद में है। बिना किसी कारण के लिए थे और न ही उन्हें न तो बुद्धिमत्ता, विद्युत, अब वकील और न ही है। इन सभी बातों में थे और वह सभी … उन्होंने begat] [शब्द और उसके पहले ही आवाज बोले और प्रकाश के प्रकाश में, उन् होंने उसे begetting चौथे विश्व के लिए उसके पास अन्य हुआ है और इस प्रकार स् वयं लार्ड ….''

 

 

बताते हैं, साथ ही इतिहासकार Trinitarian Quasten खंड 2, पृष्ठ 200 Patrology

उपर्युक्त के संदर्भ में उद्धृत Hippolytus सिद्ध होता है कि वास्तव में Hippolytus सिखाया कि शब्द "की गई थी (रजिस्टर्ड)'' और ''जन्म से पहले' शब्द का विस्तार किया गया है जो 1:14)" (जॉन ने स्पष्ट रूप से सृजित एरियन पुत्र। यही कारण है कि पूर्वी, साथ ही Quasten भी रूढिवादी Trinitarian इतिहासकार तेजी से खारिज Hippolytus' शब्द का विचार किया जा रहा है) (लोगो''' और ''जन्म के पहले अवतार माना जाता है।

 

 

बाद रोमन कैथोलिक artwork समझा जाता है जो Callistus से मिलते-जुलते हैं, जो बाद में एक तीसरी शताब्दी बिशप रोम के पोप की पंक्ति में इसप्रकार के धर्मदूत पीटर है। समस्या यह है कि Trinitarians के लिए केवल अर्ल

 

 

इसी पृष्ठ पर टिप्पणी करते हुए बाद में Hippolytus Quasten (पृष्ठ 200),

''इस तरह सही थी और उनके अनुयायियों में पोप Callistus डबिंग Hippolytus DITHEISTS या दो देवी-देवताओं के अंधभक्त हैं, यद्यपि इस क्षुब्ध Hippolytus कटु (9:12) का खंडन नाक की सभी Heresies''

के अंतर्गत, नये आविष्कार Arianism कैथोलिक विद्यावली उद्धृत किया है।'' ''के बीच Tertullian Semi-Arians Hippolytus और

 

 

इसके बाद नये आविष्कार विश्वकोश का कहना है,

''अर्ध Arians … परजोर ईश्वर को शाघवत, वे उनके पुत्र उत्पन्न करने की कल्पना की हो और अनिवार्यशिक्षा'

 

 

में लिखा भी Hippolytus लोकों मानवता के खिलाफ सभी Heresies' पुस् तक के

लिए 9, 5 भाग, ''इस तरह वह ईश् वर की प्रभुसत्ता स्थापित करने के लिए (Noetus) का मानना है कि यह आरोप लगाते हुए, पिता और पुत्र तथाकथित, एक ही (1923---- ''homousious''), नहीं, बल्कि एक अलग से उत्पादित एक व्यक्ति से अपने स्वयं का नाम है और वह है; स्वघोषित पिता और पुत्र के अनुसार

 

 

: "धर्म" बार vicissitude Nicene पूर्वजनित (जन् म) नहीं किया गया), एक पदार्थ (homousious (पैदा नहीं है)

 

 

कि शिख्रण थे Modalists हड़ताल करने'', पिता पिता बेटे बन गया है ताकि 'पुत्र' नामक पुत्र पूर्वजनित बनाया गया जबकि देवता) मानव बने पुत्र उत्पन्न नहीं किया गया था, क्योंकि देवता के पुत्र पिता का सार की जा रही है। वास्तव में, प् लान Hippolytus सिखाया कि पुत्र को पेश किया गया और न ही ''पदार्थ (सृजित) (homousious)" के पिता है। इसलिए शीघ्र Modalistic Monarchian धर्मशास्त्र में थी, जबकि 325 के आरंभिक के साथ सामंजस् य स् थापित संप्रदाय Nicene धर्मशास्त्र का 'Semi-Arians' जैसे कि धर्म के बिल् कुल विपरीत था और Hippolytus Tertullian

 

 

चूंकि Hippolytus स्पष्ट है कि सिखाया पिता और पुत्र (1923)" "नहीं हैं वही है और 'पुत्र' उत्पादित Modalists Nicene वहकानून की थी कि इससे पहले लिखा गया था, जबकि 325 ईसवी का पंथ।'' जैसे कि शिख्रण थे और Hippolytus Tertullian Semi-Arians पुत्र अपने पिता के अन्तर्गत उत्पादित घटिया, अधीनस्थ व्यक्ति (एरियन की संकल्पना है.

 

 

''में Hippolytus खंडन के सभी Heresies, पुस्तक 9, अध्याय 5 निनदा की और कहा,

''अब Modalists Noetus यह स् पष् ट है कि सभी को हास्यास्पद उत्तराधिकारियों के Noetus और विजेता अपने गढ़ना, यद्यपि वे एसी नहीं किया गया है, तथापि, किसी के दर्शन के Heraclitus दर जब वे अधिकतरअमरीकी undisguisedly अपनाने के मत Noetus, इन (Heraclitean भेजाजिन्होंने)। वे इस प्रकार के बयानों को अग्रिम-एक ही ईश्वर है; और इन सभी बातों के पिता सृष्टिकर्ता और उसे प्रसन्न है कि जब वह भी प्रकाशित हुआ, (यद्यपि अदृश्य,) को मात्र है। जब उन्होंने देखा नहीं है वे अदृश्य के लिए; और वह है जब वे समाते नहीं करना चाहता है, लेकिन जब वह बोधगम्य ु९छहो सेतु है। यही कारण है कि यह Wherefore के अनुसार, वह अदृश्य दिखाई देता है, और unbegotten पूर्वजनित, अमर और काअस्थिकलश इस मत का वर्णन नहीं करेगा कि किस प्रकार व्यक्तियों को शिष्यों के Heraclitus साबित होगा? (Heraclitus नहीं) के अवेशष पूर्वानुमान प्रणाली में जुटी Noetus दर्शन के अनुसार समरूप साधनों की अभिव्यक्ति है?" Hippolytus, सभी के खिलाफ Heresies, पुस्तक 9, अध्याय 5 निन्दा

 

 

कर सकते हैं, या किसी Trinitarian विद्वान Noetus इतिहासकार साबित करने के लिए उपर्युक्त तरहसहमत द्वारा Hippolytus? क्या यह दिखाने के लिए कि Heraclitus Hippolytus उद्धृत किया जाता है कि ईश्वर से प्रस्तुत करने के लिए अपने पुत्र Heraclitus एक व् यक् ति के रूप में बने हैं? मैं देखता हूं कि लेखन के अवयवों के नहीं हैं, जो प्राचीन काल से बच गए दार्शनिक predated के लगभग 200 वर्षों तक Platonic दार्शनिकों

 

 

Hippolytus स्वयं स्वीकार किया है कि ''नहीं था Modalists एसी के दर्शन के Heraclitus" फिर ऐतिहासिक प्रमाण मिलते हैं कि जो साबित हुई irrefutably Hippolytus ----- 140 से 300 ईस्वी धर्मशास्त्र' थे जिन्होंने स्वयं immersing थे और अन्य Heraclitus यूनानी दार्शनिकों के लेखों में है।

 

 

मैं कुछ नहीं कर सकते हैं, या विद्वान Trinitarian इतिहासकार धज्जी के साक्ष्य से यह सु३ााव है कि Modalists एंव यूनानी दार्शनिकों जैसे Heraclitus और प् लेटो है। प् लान, तथाकथित रूढ़िवादी Semi-Arians Semi-Trinitarians मानते हैं कि यूनानी दर्शन और कुछ पेशकश ईसाई

 

 

चर्च इतिहासकार Jaroslav Pelikan ने लिखा है कि "नव-platonic तत्व मौजूद थे।'' की परिभाषा में Trinitarian निश्चय एक ईश् वर में''"

 

 

"तीन व्यक्तियों के सिद्धांत को त्रिमूर्ति

''चौथी शताब् दी के मध् य से आगे विचार किया गया था, तथापि नव-दर्शन से प्रभावित platonic ईसाई जोरदार और रहस्यवाद'

 

 

में लिखा है, ''दिल्ली सेने के इतिहासकार चर्च के प्रभाव पर विचार ईसाइयों',

'134 पृष्ठ यूनानी और Hippolytus … स्वयं इस समयस्थिति

यह 355दार्शनिक और दार्शनिक साहित् य में उनके खिलाफ उद्धृत कर Hippolytus Heraclitus polemic Modalists है। यदि Hippolytus immersing नहीं थी, तो वह कैसे यूनानी दर्शन में स्वयं को कायल क्या है? कहा Heraclitus

चर्च के इतिहासकार, दिल्ली, जो एक नये कामगारों के लार्वे क्लेमेंट सिकंदरिया ही मान्यताओं के रूप में आयोजित (Semi-Arian Hippolytus) के लिए 'भूरि' है और 'Heraclides कार्यपद्धतियों में विभिन्न रूपों में प्लूटो'

 

 

के प्रभाव पर विचार पृष्ठ 175 - 1 पाद ईसाई धर्म, यूनानी, Stromaties 5:14

क्लेमेंट सिकंदरिया का कोई Modalist है। पहले उन्हें सफल Origen Origen पढाया था क्लेमेंट सिकंदरिया में है। ऐतिहासिक साक्ष्य यह सिद्ध हो जाता है स ९ दोनों क्लेमेंट Origen थे. यूनानी दर्शन की अलेक्जेंडिधया और श्वेतों

5:14, क्लीमेंट एटले नेक्या सिकंदरिया में लिखा

था, "Stromaties में सदैव एक स्वाभाविक रूप से एक अर्थात् सर्वशक्तिमान ईश्वर में, सभी सही सोच; और सबसे ने, जो बिल्कुल नहीं डाइवेस्टिड स्वयं शर्म की बात को लेकर शंका व्यक्त की शाश्वत मुखड़ा तब तक सचमुच बड़ा हितकर जान पड़ता है, सच्चाई विधाता में तत्पश्चात्, उत् कृष् ट में काफी नहीं था।मु३ो आशा है कि बिना Chalcedonian Xenocrates की धारणा में भी विद्यमान थी अविवेकपूर्ण प्राणी दैवत्व यद्यपि Democritus और उनकी इच्छा के विरुद्ध होगा, यह उनके द्वारा स्वीकारोक्ति के परिणामों के लिए वह प्रतिनिधित्व करता है उसी रीति से छवियों को जारी किये जाने पर, सार, दैवी पुरूष और अज्ञानी जानवरों को अलग कर देना। दूर से रहित है, जो व् यक् ति एक दैवी विचार यह लिखा जा रहा है, उसे प्रेरणा की उत्पत्ति, partook से संपन्न एक अन्य जीवों की अपेक्षा देवना गरी सार प्राणी अत:, यह कहना कि Pythagoreans मन की बात आती है, जैसा कि प् लेटो और अरस्तु avow विधाता द्वारा मनुष् य; लेकिन हमें विश्वास है जो उसे प्रेरणा पवित्र आत्मा के सरासर है।

 

 

के मन में यह व्यवस्था है कि Platonists effluence दैवी आत्मा में हैं और वे आत् मा शरीर में स्थान है। यह स्पष्ट रूप से कहा, ''उपदेशकों के जोएल, बारह और पारित करने के बाद ये बातें आ ो, मेरी आत्मा वर्षा से सभी बेटियों को अपने पुत्रों और आपके और मांस तक वजूद करेगा।''।लेकिन ऐसा नहीं है कि ईश्वर का एक हिस्सा है। हम में से प्रत्येक की भावना लेकिन इस व्यवस्था कैसे होता है, और जो पवित्र आत्मा है, हमारे द्वारा दिखाया गया है, और उन पर पुस्तकों में भविष्यवाणी की आत्मा है। लेकिन "अविश्वास का अच्छा छिपाने की गहराई के ज्ञान," "अविश्वास के अनुसार; Heraclitus अज्ञानता से बचे।"

 

 

हम जानते हैं कि जबस्टन (जो भी कहते हैं) में ministered Ephesus जस्टिन शहीद, रोम, शायद रोमन साम्राज्य के अन्य भागों में से लगभग 140-165 है। जबस्टन जारी होने के बाद उनकी दार्शनिक यहसमझेंे साथस्वीकार किया गया था, ईसाई बनने से कथित रूप से लज्जित नहीं पढ़ा है कि वह राज्य के साथ-साथ कई अन्य Heraclitus, यूनानी दार्शनिकों ने क्लेमेंट और Origen के अलेक्सेंड्रिया शहर में तथा कुछ हद तक Tertullian Carthage के उन सभी के प्रभावशाली विकास के सिद्धांत को त्रिमूर्ति है।

Justin Jones" "Heraclitus प्रशंसा की एक व् यक् ति के रूप में थे, जो ''शब्द के भाग के अनुसार …(ईश्वर) के लोगो'' में उनका दूसरा … पुरूषों में डिप्ल्यूसड माफी, अध्याय 8.

 

 

''और सार्वजनिक तौर से, जहां तक उनका नैतिक शिक्षा-स्कूल गए थे, वे भी थे, जो अपनी निर्भीकता और कवियों के विवरण में बीज के कारण [Setup] लोगो में प्रवेश करता है, हम जानते हैं, हर जाति की स्त्री-पुरुष थे और घृणा से मृत्यु-Heraclitus उदाहरण के लिए और उन लोगों के अपने समय के अनुसार नहीं रहते हैं और अन्य Musonius … शब्द का केवल एक हिस्सा डिप्ल्यूसड] [पुरूषों में ज्ञान और द्वारा आत्मचिंतन के पूरे शब्द है जो ईसा' (अध्याय 8)

इसी बात पर अपनी पुस्तक में Heraclitus Tertullian की अत् यधिक आत् मा, अध्याय 2,

''Heraclitus बिल्कुल सही थी, जब प्रेख्रण मोटी अंधकार में शोध के बारे में जो obscured inquirers आत् मा और उनके साथ खत् म होने के बाद उन्होंने घोषणा की कि वह प्रश्न क्लांत निबश्चत नहीं थे, हालांकि, आत् मा की सीमाओं का पता 2335 में अपने डोमेन हर सडक।"

 

 

सभी जानते हैं कि कोई सिकंदरिया के चर्च इतिहासकारों क्लेमेंट Modalist है। अपने धर्मशास्त्र के साथ सामंजस् य स् थापित किया गया है, तथा Tertullian जस्टिन, Hippolytus उन्होंने यह भी थी

, लेकिन "अविश्वास के शौकीन Heraclitus अच्छी सी

की शिक्षाओं के लिए निम्नलिखित Hippolytus hypocritically Modalists की कडी निनदा की और उन े९ भीतर Heraclitus थे, जबकि उनकी Semi-Arian शिविर में शामिल थे, एक की पढ़ाई और यूनानी दार्शनिकों के लेखों Heraclitus और उसके बाद। किसी ने बुधवार को एक73प्रमाण हैं कि कोई भी शीघ्र Modalists यूनानी दार्शनिकों पढ़ना थे। प् लान, ऐतिहासिक डेटा को साबित करता है कि Semi-Arians और उभरते हुए बच् चों के साथ मिलाकर की गई Semi-Trinitarians यूनानी दर्शन शास्त्र के लिए दोषी नहीं है।

 

 

Modalists सच होगा और उसके बाद वे ईसाइयों के बारे में चेतावनी सूचक पॉल के सिद्धांत'' ''जब झूठी प्रवेश के माध्यम से उनकी चेतावनी यूनानी दर्शन पॉल ने लिखा है Colossae शहर में

''किसी व्यक्ति के माध्यम से आप धोखा लेवी सावधान दर्शन और व् यर्थ छल के बाद दुनिया के मूल तत् वों और पुरूषों की परंपरा और उनके निवास करता है, सभी के लिए ईसा के बाद न देवता की संपूर्णता में शारीरिक रूप से रुचि … (2:Colossians 8-12)"

 

 

अध्याय 10 में जबस्टन के दूसरे माफी, वे कहते हैं,

''चाहे तो अच्छा है... जिसका श्रेय स्मृतिकारों या दार्शनिक कहे तो वे उसकी व्याख्या कर पाना और संभावनाओन के कुछ भाग, जो अधिक उत्साही सुकरात और … शब्द इसी दिशा में अधिक था, उन सभी अभियुक्तों की बहुत ही था, आंशिक रूप से ज्ञात करना … स्वयं अपराधों को ईसा (विसर्ग द्वारा भी थे और जो शब्द है जो कि प्रत्येक मनुष्य के प्रारभिंक चौतीस वर्ष गुजरे हैं और थे। पास आना और उपदेशकों के माध्यम से अपने में जब वह व्यक्ति नहीं किया गया है और इन सब बातों जैसे अभिव्यक्तिहै, 1:9): जॉन सिखाया ही नहीं, बल्कि, दार्शनिक और विद्वान मानते थे और लोगों को पूरी तरह कारीगरों, अशिक्षित दोनों despising और गौरव है; क्योंकि वह भय और मृत्यु की शक्ति नहीं है, पिता अनिर्वचनीय मात्र साधन के रूप में अपने पहले लिखा है।

 

 

" मानवीय कारण जस्टिन क्षमा, अध्याय 20 में "हम सिखाने के समान' में लिखा है, अपनी दूसरी ख्रमायाचना जस्टिन … यूनानियों 2:13, ''की शिक्षाओं के प्लेटो नहीं हैं, यद्यपि वे अप्रासांगिक ईसा के सभी पहलुओं में समान नहीं … के सभी लेखकों की प्राचीनता के पास एक धुंधली वास्तविकताओं की संकल्पना को यह उपकरण के बीज का अर्थ है।" शब्द catacombs प्राचीन रोमन चर्च के साथ दुआ वर्ण बाइबल और ईसाई संभ्रांत अक्सर टरबाइनईंधन हाथों में है।

 

 

आरंभिक उद्धृत Eusebius Modalistic Monarchian नेताओं को रोम में उन ९ी निन्दा यूनानी दर्शन से प्रभावित होने के भीतर जन्मों Hippolytus और Tertullian Modalistic Monarchian रोमन बिशप से (या Callistus Zephyrinus) लेकिन मूल कार्य समाप्त हो चुकी थी या नष्ट हो गई है।

 

 

"इन पुरुषों की पवित्र धर्मग्रंथ, अपास् विकृत निर्भय होकर शासन के प्राचीन आस्था और पता नहीं हैं और ईश् वर के धर्मग्रंथों अभित्याग ईसा … अध्ययन किया जा रहा है, वे रेखागणित, पृथ्वी के बोल, धरती के ऊपर से आता है और जो उसे अनदेखी उनमें से कुछ तो उनके मन को 'अलमजीस्ती' है, उनमें से कुछ शिष्यों के कुशल और अरस्तु Theophrastus यूनानी दार्शनिकों ( एच. ई.) द्वारा उद्धृत Eusebius …' 5:28, 13 यूनानी/के प्रभाव के बारे में ईसाई धर्म, पृष्ठ 131रोचक बात यह है कि लगभग सभी Modalistic अथवा नष्ट हो गई हैं, जबकि Semi-Arian लेखन Monarchian लेखन आज भी हैं। हो सकता है कि बाद के रोमन कैथोलिक चर्च नष्ट की रचनाओं के खिलाफ सबूत damning अन्तर्विष्ट हैं क्योंकि वे Modalists Trinitarian सिद्धांत विकसित किया है? यह निश्चित रूप से ऐसा लगता है कि यह !

 

 

ऐतिहासिक साक्ष्य साबित कर देता है कि देवता के शब्दों को वफादार थे यंदी Monarchian Modalistic जबकि Semi-Arian Gnostic और विधान सभाओं में स्वयं immersing थे. यूनानी दर्शन मूर्ति

(140-165 के बारे में लिखित माफी की पहली जबस्टन में 63 ईस्वी), जबस्टन (क) का उल्लेख किया है जो ईसाई एरियन सेमीफायनल में समकालीन हानिकारकनहीं पुत्र पिता है।

 

 

' पुत्र को स्वीकार किया है कि वह साबित न हो, पिता से परिचित हैं, न कि पिता के पिता ने पुत्र …' ने ब्रह्मांड की Trinitarian इतिहासकारों तथा विद्वानों में से एक था शीघ्रातिशीघ्र जबस्टन मानता हूं कि 'subordinational Semi-Arian विचारों वाले ईसाई लेखकों ने' सन् 1913 में, ''सेंट कैथोलिक विद्यावली जबस्टन शहीद'', वास्तव में क्या हमें विश्वास है जस्टिन संसद्

 

 

"... यह शब्द ईश्वर के अनुसार, जस्टिन (i Apol, तिरेसठवां; डायल, समस् त परिवार उसकी xxxvii ने स्वयं, संख्यांक 36, तिरेसठवां, खंडवार विचारप्रारंभ किया, lxxxvi, lxxxvii cxiii cxv cxxv, cxxvi, cxviii,,,)। तथापि, ऐसा लगता है कि उनका दिव्य अधीनस्थ, पूजा करता है जो उसके लिए गए हैं, (i); (vi Apol दे. सतरहवां lxi, 13; ''Teder Justins des Märtirers Lehre वान क्राइसट Christus फ्रीबर्ग', आई.एन.), 1906 103-19 मेंहृदयरोगियों पिता उसे एक आजाद और उसके नाना (उत्पादन) स्वैच्छिक अधिनियम (डायल, ग, lxi cxxvii, cxxviii; दे. सतरहवां Teder सत्ता बनने के लिए उसे वैसा ही, 104) के आरंभ में, अपने सभी कार्य (डायल lxi lxii, 2, 6, 3); …. Apol, दो प्रभावों में उपर्युक्त निकाय के सिद्धांत साफ देखे हैं। निस्संदेह, यह है कि उनके की अवधारणा को ईसाई रहस्योद्घाटन जस्टिन मुआमलत व्यक्तित्व का स् पष् ट शब् द, उनकी दार्शनिक अटकलबाजी के लिए जिम्मेदार है और दिव्य अवतार; लेकिन उनकी दुर्भाग्यपूर्ण अवधारणाओं को सांसारिक और स्वैच्छिक पीढ़ी (begetting) शब्द के लिए और धर्मशास् त्र का जबस्टन के SUBORDINATIONISM।"

 

 

शब्दों के ऊपर रेखांकित वक्तव्यों और उसके नाना का अर्थ' (स्पष्टता कैपिटालाइज़ करने के लिए तैयार है.'' और ''जन्म'') पीढ़ी का अर्थ अध्याय 13 "... हमें युक्तिसंगत जस्टिन का पहला ख्रमायाचना उसकी पूजा करते हुए, मॅँने सीखा है कि वह स् वयं ईश् वर के बेटे हैं और उसे सही करने में दूसरे स्थान पर है और वे भविष्यसूचक भावना में तीसरी, हम साबित होगा। हमारी प्रजा को शामिल करने के लिए, हम यह पा ालपन प्रदान करने के लिए एक स्थान से दूसरे स्थान अपरिवर्तनशील और सनातन सूली मनुष्य ईश्वर के सर्जक सभी …'

 

 

शब्द स्पष्ट है कि सिखाया (पुत्र जस्टिन) तैयार किया गया है या पिता द्वारा birthed सृष्टि के पहले रखने के बजाय एक कालातीत अस्तित्व जबस्टन सिखाया जाता था कि वह एक 'सांसारिक" "द्वारा" के रूप में उसके नाना (उत्पादन) के अस्तित्व का एक अधीनस्थ के सृजन के पिता से पहले उनका दूसरा जन्म बेथलेहम में है। इसलिए जबस्टन था जो Trinitarian एरियन के बजाय केवल ईसाइयों के साथ खुशऔर Modalist ईसाई थे जिन्हें द्धितीय शताब्दी ईसा पूर्व के देवता के सच्चे जोड़ा जाना था Trinitarianism विकसित किया गया।

 

 

यूनानी दर्शन से प्रभावित कुछ भी Tertullian (1) में लिखा (Tertullian डे Testim Animae ''हमारे कुछ संख्या, जो प्राचीन साहित्य में वहां की पोशाकों, पुस्तकों की रचना की है जिसके द्वारा स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है कि हमने अपनाया जा सकता है या कोई नयी बात नहीं है, जिसे हमने यह सरासर गलत नहीं है।

 

 

'' के समर्थनमें उद्धृत सामान्य और लोक साहित्य'', पृष्ठ पर विचार ईसाइयों के प्रभाव में ग्रीक

तब सेये 126 दिल्ली ने लिखा है कि Tertullian विश् वास था कि शिख्रण वही यूनानी दार्शनिकों है।

(लेखक इस भावात्मक आरोह-अवरोह के समान ही कहीं ''Tertullian) और तर्क के लिए अपने विरोधियों पर ईसाई धर्म की सहनशीलता की बात है कि यह एक प्रकार का रख-रखाव, दर्शन, अध्यापन इसी सिद्धांत रूप में दार्शनिकों …" पृष्ठ 126 : Apol है। 46.

 

 

इसी पुस्तक के 134 पृष्ठ पर, दिल्ली, यद्यपि वे पूछते हैं, ''Tertullian लिखा, "क्या यह समानता के बीच एक दार्शनिक और ईसाई के बीच एक शिष्य यूनान और एक शिष्य आकाश?'' शब्दों में व्यक्त स य़९िश्चयन सत्यों दार्शनिक …. Apol, 1 पाद 46

Tertullian लिखा,

 

 

''Heraclitus पर हिन्दुओं की आत् मा, अध्याय 2 प्रेख्रण, जब ठीक था जिसे अंधकार में शोध के घने obscured inquirers आत्मा और उनके बारे में उन्होंने घोषणा की कि वह प्रश्न, खत् म ही क्लांत निबश्चत नहीं थे, हालांकि, आत् मा की सीमाओं का पता 2335 में अपने डोमेन हर सडक।"

 

 

अत:, उसके खिलाफ PRAXUS अध्याय 7 में यह शब्द भी स्वयं अपना रूप धारण कर और शानदार वेश में अपनी आवाज और ईश् वर कहा जाए तो वाग्मिता मुखर प्रकाश की उत्पत्ति (1:3) यह संपूर्ण NATIVITY' शब्द को, जब वह ईश् वर से पहले उनके आगमों के सृजन के लिए और मेरे विचार से- द्वारा बनाई गई सारी चीजों के नाम वह स् वयं से कार्यवाही या अकल.... उसकी पहली, क्योंकि इन सभी बातों से पूर्व पूर्वजनित पूर्वजनित पुत्र Colossians; 1:15, क्योंकि केवल तभी उनकी और-पूर्वजनित भी एक तरह से विचित्र स् वयं ईश् वर की पूर्वजनित से अपने दिल की गर्भ [Setup]"

 

 

Tertullian पिता की स्पष्ट कहा है कि "पूर्वजनित पुत्र पिता की गर्भाशय के बाहर से कहा, ''जब हृदय'' में ईश् वर की उत्पत्ति में प्रकाश किया जाना चाहिए।1:3 है। "यह पूर्ण NATIVITY' शब्द

की परिभाषा की है, ''किसी व् यक्ति के अवसर पर Nativity'', "मेरा स्थान का जन्म nativity।"

अत:, Tertullian सिखाया जाता था।

 

 

"ईश्वर का एक पिता और वह भी एक न्यायाधीश; लेकिन वह हमेशा नहीं है, बल् कि पिता और जज इस आधार पर हमेशा ईश्वर है। इसके लिए उन्हें नहीं जा सकता है और न ही किसी न्यायाधीश के पुत्र अपने पिता के पहले से पूर्व के पाप है। तथापि, जब पाप नहीं था और न ही उनके साथ 07, न पुत्र के पूर्व न्यायाधीश लार्ड गठित करने का था और बाद में एक पिता है। इस प्रकार वे उन बातों से पूर्व लार्ड नहीं था, जिसमें वह ईश्वर को। लेकिन वह केवल कुछ ही समय : भविष्य में भगवान बन गये पिता से पुत्र और न्यायाधीश द्वारा पाप है ताकि वह उन बातों के माध्यम से भी किया था जिसमें उन्होंने लार्ड बन गए हैं, ताकि वे स्पष्ट रूप से सिद्ध हो सकता है।'' Tertullian सिखाया कि ईश्वर पिता से पुत्र को हमेशा नहीं था, लेकिन जब पिता बन गया। पूर्वजनित पुत्र इसलिए Tertullian में विश्वास नहीं है कि ईश्वर ने शाश्वत कालातीत पुत्र।

 

 

पृष्ठ पर 199, दिल्ली में माना जाता है कि "... प्लेटो ने लिखा है कि एक बच्चे निकालना सृष्टिकर्ता और दुनिया के शासक, जो कि ईश्वर को पूरी लोकातीत अधीनता चाल 1 पाद' में विद्यमान हैं, श्री सेने नये कामगारों (62), Irenaeus Trypho के साथ बातचीत जस्टिन (1:24, 25), और (7) Hippolytus 16, 20) के बारे में सोचा Platonic यूनानी से प्रभावित सभी बातों का एक अधीनस्थ सृष्टिकर्ता के पुत्र उत्पन्न है।

नीचे के Artwork Origen सिकंदरिया में यह है कि कोई गुप्त Origen प्यार को पढ़ने में यूनानी दार्शनिकों और अपेक्षित अपने छात्रों को अपने स्कूल में पढ़ने के लिए नियमित रूप से और बाद में सिकंदरिया Caesaria यूनानी दार्शनिकों है। अत: यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि कुछ छात्रों के बाद Caesaria Origen के स्कूल में अपने पितरों से बढ़चढ़कर थे जो विकसित करने के लिए कहा जाता है। त्रिमूर्ति Cappadocian सिकंदरिया में Origen की भूमिका में, हमारे फैसलों विद्यावली Looklex Origen प्रभावित था।

 

 

Gnosticism दर्शन और Platonic

'मैं शीघ्रातिशीघ्र धर्मविज्ञानियों अपने गैर-ईसाई उपकरणों को अपने काम में पारदर्शी और दर्शन दोनों; Platonic Gnostic अवधारणाओं को केन्द्रीय भूमिका में उनकी समझ में ईसाई धर्मशास्त्र के ग्रंथों',

"विद्यावली Looklex Origen माना जाता है।

 

 

यह यंत्रों के संस्थापक रूपकात्मक व्याख्या की पद्धति उन्होंने यूनानी दर्शन के संकलन के उद्देश्य से ईसाई धर्म, मुख्यत: स्वयं की आलोचना और प्रभाव, Looklex Platonist स्कूल' का कहना है, ''उन्होंने एक पृष्ठभूमि के साथ Platonic दर्शन के विश्वास को एक परम आत्मा के विपरीत, अस्थायी, कच्चा माल है। अन्य विवादास्पद विचारों के preexistence आत्मा की सर्वव्यापी मुक्ति और त्रिमूर्ति में तारतम्य जहां ईश्वर को नीचा ईसा के अनुरूप Arianism () को परिभाषित करने के शरीर की संभावितबहाली और आध् यात् मिक मुख्यत: दूर की धारणा नरक है।"

 

 

मॅँ यह सिद्ध करने या किसी भी चुनौती Trinitarian apologist विद्वान दार्शनिक कल्पनांए पढाने के प्रारंभिक Modalists वास्तव में Heraclitus है। साक्ष्य को साबित करता है कि ज् यादातर Semi-Arians गया था और बाद में स्वयं immersing लेखन के Heraclitus यूनानी दार्शनिकों के अनुसार धर्मशास्त्र का शिख्रण Modalists थे कि बाद में धर्म के साथ संगत Nicene अधिकांश लोग यह नहीं जानता कि दोनों Tertullian में पश्चिम और पूर्व में Origen स्वीकार किया है कि बहुत अधि ९ हो ाईहै।

 

 

मुस्लिमों के मूल्योंके संवर्धन Modalists Semi-Arian चूंकि अधिकांश लेखन के नष्ट हो गया है, कई MRTP आयोग का मानना है कि यह Semi-Arian Semi-Trinitarian धर्मशास्त्र के रूप में अधिक प्रचलित थी, लेकिन इस ऐतिहासिक तथ्य सिद्ध होता है। परिषद के समय Nicaea, ऐसा लगता है कि चार मुख्य शिविर ईसाईयों की:- (1), (2) द्वारा की गई जो Modalists अधि ९ हो ाईहै Arians Semi-Arians, (3) और (4) 325 ईसवी का नया विधान सभाओं द्वारा Semi-Trinitarian Nicene पंथ का कहना है कि ''पूर्वजनित (जन् म पुत्र बने देवता) नहीं किया है, एक पदार्थ के पिता Modalism सिखाता है कि पिता बनने के पुत्र …' है और वही पदार्थ और व्यक्ति के देवत्व पिता है। इस प्रकार वह 'पुत्र जन् म' बने, लेकिन न बनाया गया है।

 

 

कुछ प्रारंभिक तीसरी शताब्दी "Semi-Arian' ईसाई लेखकों ने माना कि Modalists अधिक से अधिक प्रमुखता Semi-Arians है। Semi-Arian Tertullian, पश्चिम में लिखा कि "हमेशा Modalists मंड़ल के बहुमत से संव र्धित' (3) और Origen Praxus के खिलाफ एक Semi-Arian पूरब में लिखा कि "Modalists ईसाइयों की आम' में उनकी दिवस (Origen गास्पेल का टीका ऐतिहासिक साक्ष्य का सुज्हव है कि जो पूरी तरह से इनकार Semi-Arians (ईसा की देवता) में लगे थे जिनमें से अधिकांश Modalistic में गरमागरम वाद-विवाद के साथ केवल ईसाइयों के समूह को अभिलिखित करने के लिए पूर्ण देवता की सहास्त्राब्दि के प्रथम दो ढाई शताब्दियों के ईसाई इतिहास है।

 

 

अपनी टीका गास्पेल का Origen' में लिखा है, '', 23 अध्याय 1, पुस्तक की जान है... मुझे आश्चर्य की मूर्खता की आम ईसाई बहुमत से इस मामले में) (ईसाई लेकिन कुछ मामलों में mince नहीं है; वे अलग करना … मूर्खता और कहें, जो ईश् वर के पुत्र जब 'शब्द हैं? पारित होने के कारण यह है कि वे काम करते हैं, "मेरा हृदय भजन-गान किया है;'' शब्द को अच्छी है और वे पुत्र की कल्पना की वाग्मिता के पिता के रूप में जमा, उससे वे किसी स्वतंत्र … … वर्णों की इजाजत नहीं रहा है और न ही वे HYPOSTASIS (1923) के बारे में स्पष्ट है। सार मैं अपने गुणों का अर्थ यह नहीं है कि वे अपनी बात है, लेकिन भ्रम का सार देखें) के अपने (Origen के लिए कोई समझ सकते हैं (में 'सामान्य' कहा जाता है, जो कि किस तरह से ईसाई) शब्द को पुत्र हो सकता है।

 

 

और इस तरह एक पृथक निकाय नहीं किया जा रहा है, शब्द अनुप्राणित पिता से (ईश् वर) के मत Origen … एक अलग किया जा रहा है और एक शब्द का सार' (homoisious) का अपना Origen का टीका गास्पेल का जॉन, पुस्तक 1, अध्याय 23 प्रकार अपनी इच् छा थी Origen शिख्रण "सामान्य चलाने के ईसाई (ईश् वर) Modalists' कहते हैं, ''यह शब्द एक अलग किया जा रहा है और एक सार' ('homoiusias) अपने।" अत:, Origen नहीं लगता कि पुत्र अपने पिता के समान है, ''homousias' है क्योंकि यह एक 'पुत्र' सिखाया Origen homoiusias ----- ''एक पृथक निकाय के अपने पिता से'' अत: Origen स्पष्ट करते हुए 325 के बाद Nicene पंथ के विरुद्ध सिखाया जाता था। प्राचीन काल में ही प्राथमिक तौर पर नकारा जाये गये Modalists Nicene पंथ के शताब्दियों पूर्व काउंसिल Nicaea है।

 

 

इसके अतिरिक्त, यदि मैं का कहना है कि "Modalists ईसाइयों की आम" इक्कीसवीं सदी में, मेरा उपहास और मेरे लिए यह ठीक ही हंसी विरोधियों Trinitarian पडी है। हालांकि अभी तक किसी के रूप में अपने प्रतिद्वंद्वी की उत्कट Origen Modalism, स्वीकार किया है कि "Modalists ईसाइयों की आम' में तीसरी शताब्दी में कठोर ह्रदय Trinitarians हमेशा मना है!

 

 

ऐतिहासिक साक्ष्य को साबित करता है कि Modalists थे कि पाने का सार की मूल ईसाइयों के पुत्र (homousias) वही सार की जा रही है जबकि Semi-Arians homousias) के पिता (ईसा की सच्ची देवता का खंडन किया है। यह कोई आश् चर्य की बात क्यों की निंदा की लेखन के रोमन कैथोलिक चर्च Origen है।

 

 

Origen ने लिखा है कि Modalists समाधााननिकालने के थे जबकि ईश्वर का सबसे ऊंचा संव र्धित कॉलिंग क्राइसट Semi-Arian प्रवृतियों को अस्वीकार कर दिया है।देवता की पूर्ण ईसा Origen

"कुछ व्यक्तियों के बीच हो सकती है कि अनुदान समाधााननिकालने के साथ सहमत नहीं हैं जो पूरे संव र्धित अमेरिका, जो सबसे अधिक सरासर incautiously रक्षक देवता है; हालांकि हम उनके साथ नहीं, बल्कि उनका विश्वास है कि जब वे कहते हैं, ''मेरे पिता कौन भेज दिया गया है।'' 1. 8:14 से ज्यादा वैषम् Celsus Origen और दूसरी 'Semi-Arians' जैसे उनके विश्वास नहीं है क्योंकि यह कह रहे थे कि modalists Modalists क्राइसट 'सबसे अधिक है, साथ ही ईश्वर है।" के अनुसार Quasten Origen के बाद सिद्धांत का पुत्र था, ''एक उल्लेखनीय प्रगति कालातीत शाश्वत विकास में पढ़े जाते थे और दूरगामी प्रभाव, पृष्ठ 78) Patrology अधीनकार्यरत गिरजे शिख्रण (खंड 2.''

 

 

हालांकि Origen प्रथम पुत्र को स्पष्ट रूप से सीख सकते हैं कि वे अपने अतीत की अनंतता में पुत्र के रूप में सदैव विद्यमान सिखाया कि ''नहीं है, लेकिन पिता से पुत्र को उसके अधीन करना औरकमजोरों Celsus 8:15 ----- (वैषम् हीन Patrology खंड 2, पृष्ठ 79) यद्यपि' के सिद्धांत की शाश्वत Sonship सिखाया गया था (तीसरी शताब्दी में द्वारा Origen Patrology खंड 2, Quaten, स्नातकोत्तर हैं। 79.),उनकी शिक्षा में vacillated Origen लगभग एक शाश्वत पुत्र और एक बनाया गया है।

 

 

शीर्षक के अंतर्गत, ''ईसा के प्राणी हैं,'' में लिखा था, Pelikan Origen के सिद्धांत के लोगो के दो प्रकारके विचार है....। एक मायने में तर्क Origen की वजह से यह आग्रह है कि भाष्य Sabellian विरोधी लोगो थी, लेकिन पिता से भिन्न नहीं कर सकते हैं, जिससे कि वह 'पुत्र' (Origen आरंभ करने के लिए निर्धारित किया है, Principiis है। 4. 4:1)....। परन्तु उसी समय की व्याख्या Origen पाठांशों का व्युत्पत्तियों और distincस्पष्ट है कि सिखाया Origen पुत्र दिया गया था,

 

 

"... हमने पहले ही इस बात का पता लगाने के लिए ईश्वर के पुत्र-पूर्वजनित को देखकर वे बहुत भिन्न नामों से पुकारा जाता है, विचारों और परिस्थितियों के अनुरूप है। उन्होंने कहा : "साॅलोमन की अभिव् यक् ति के अनुसार बुद्धिमत्ता, भगवान सृजित मुझे अपने तरीके के प्रारंभ में, अपने कार्यों को करने से पहले वह किसी अन्य बात, उन् होंने मुझे,1929से पहले चलनेदीजिए। प्रारंभ में, पहले से पहले वह पृथ्वी बनी लाए गए पर्वतों के सामने के फव्वारे, जल की मजबूत करने से पहले सभी पहाड़ियों में उन्होंने मेरे सामने लाया गया है, वह भी पहली बार जन्मे स्वघोषित।

 

 

" के रूप में घोषित किया गया है :- "जो पहले पुरोधा के प्रत्येक जीव का जन्म हुआ, लेकिन पहली' नहीं है, बल्कि यह ज्ञान से भिन्न किसी व्यक्ति द्वारा की प्रकृति और एक ही है.'' Origen Principiis पुस्तक 1, 2:1से सम्बन्धित Origen यहसिर्फ ज्ञान का ईश् वर के पुत्र जीवित जन्म से पहले ही वास्तव में किया जा रहा था, Origen शिख्रण Arianism है। उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा गया है कि ईश्वर ने पुत्र को जन् म से पूर्व शाब्दिक बेथलेहम में उपर्युक्त उद्धृत है। धर्मशास् त्र का मानना है कि ईश्वर प् लान मूल्योंके संवर्धन, प्रथम पंचवर्षीय योजना के रूप में और उनके मन में ईसा ने मानव-पुत्र।

 

 

इस मायने में यह है कि ईसा ने कहा है कि वह "ईश्वर के सृजन के प्रारंभ में'' और ''14, 3:Rev. के सृजन के सभी firstborn Colossians' में 1:15. इस प्रकार यह स्पष्ट है कि ''एकमात्र-ज्ञान Origen सिखाया गया जो 'पुत्र' पूर्वजनित सृजित करना ….'' के आरंभ मेंइसमें कोई आश्चर्य नहीं कि Origen का उत्तराधिकारी और शिष् य रूप देना किसी का ऐलान किया कि "ईश्वर के पुत्र, अलेक्जेंडिधया प्राणी है और कुछ।" Pelikan, उभरने के खंड 1 में कैथलिक परंपरा में स्नातकोत्तर हैं। 192 / बाथ है। Dion है।

 

 

इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है और 10-11, 4:2 (Eustathius क्यों शीघ्र चौथी सदी के हस्ताक्षर करने वाले Modalist Nicene पंथ, विस्फोट के लेखों में अपने Origen polemic है जिसमें 'जड़ों के Arianism।'

हालांकि उन्होंने कहा कि "जब स्वयं मेंप्रशासन Origen ज्ञान'' और ''सृजित किया जा रहा है कि 'पुत्र'

और उनकी आवाज में बिना किसी प्रारंभ करने के लिए, या रंग, या आनीविका हमेशा मांगा आकार में बुद्धिमत्ता, ज्ञान के संबंध में अपनी जा रहा है? और जो कि ईश् वर के बारे में अपना प्रिय नारा लगाना चाहा मनोरंजन करने में सख्रम है या विचारों की भावनाओं की जा सकती है, ऐसा मान लीजिए कि ईश् वर पिता या का मानना है कि समय के साथ-साथ कभी भी विद्यमान है, एक क्षण के लिए सृजित किए बिना यह ज्ञान? वह उस मामले में या तो अवश्य कहूंगा कि ईश् वर के लिए जुटाने में असमर्थ थी।

 

 

उसके बाद, ताकि वह ज्ञान से उत्पन्न होने वाले पहले उनके नाम पर मौजूद नहीं है या कि यह शक्ति है, लेकिन वास्तव में- क्या कहा जा सकता था- impiety ईश्वर के बिना इसका प्रयोग करने के अनिच्छुक; दोनों suppositions, यह सभी समान हैं और अन् य पेटेंट वाहियात: वे या तो इस धनराशि को उन्नत करने में असमर्थता की शर्त से कि ईश् वर की योग्यता, या कि यद्यपि वे सत्ता का थोड़ा छिपी है और विलंब के उत्पादन का ज्ञान है।

 

 

हमने सदैव Wherefore हुई है कि ईश्वर को अपने पिता के पुत्र-जन्म हुआ, जो वास्तव में केवल पूर्वजनित, तथा उनसे क्या है, लेकिन जैसे ही नहीं, शुरू में बिना किसी डिवीजन के समय किया जा सकता है, लेकिन फिर भी यह मानकर जो दिमाग में सिमट कर सकते हैं ताकि उसका चिन्तन अकेले या अंतर्विष् ट पत् थर की शक्तियों के साथ बोलने से समझ Origen Principiis पुस्तक 1, 2:2, "अब में इसी तरह समझा जाता है कि हमने जो ज्ञान का सूत्रपात हुआ और ईश् वर के तरीकों को अपनाकर और खुद के भीतर से युक्त सृजित कर लीजिए कि सभी प्राणियों की शुरुआत होनी चाहिए, हम यह सम३ा प्रजातियों और उसके लिए ईश् वर का शब्द अन्य सभी प्राणियों को उजागर करने के कारण, अर्थात्, सृजन की प्रकृति के रहस्यों को सार्वभौमिक और रहस्य, जो दैवी ज्ञान के भीतर अन्तर्विष्ट हैं; और इस कारण वे शब्द माना जाता है, क्योंकि वे थे, जो व् याख् या पुनरुक्ति के मन में है।

 

 

अत:, उस भाषा में पाया जाता है।यह कहा गया है कि "जहां पॉल के कृत्यों का निर्वाह किया जा रहा है, ऐसा प्रतीत होता है.'' शब्द को ठीक करने के लिए मुझे का प्रयोग किया जाता है। फिर भी, अधिक से अधिक निम्नाकिंत अशं और उपयुक्तता जॉन कहते हैं, ''भगवान को परिभाषित किया गया है, तो उसके गास्पेल की शुरूआत में एक विशेष परिभाषा को

 

 

''शब्द और ईश् वर के शब्द हैं? और यह ईश्वर के साथ प्रारंभ में तो उसे' शब्द को आरम्भ करने के लिए जो सघंर्ष या बुद्धिमत्ता, ईश्वर की देखभाल के लिए दोषी नहीं है कि वह अपने पिता को देखते हुए वह इंकार unbegotten impiety के विरूद्ध था कि वह हमेशा एक पिता और सृजित शब्द नहीं था, और जो ताकतTrinitarian इतिहासकारों ने स्वयं को उद्धृत किया है, जो स्कूल के छात्रों के बाद Origen सिकंदरिया पेश करने के बाद उन के सिद्धांत विकसित त्रिमूर्ति Caesarea तीन Cappadocian निर्माताओं से आगे विकसित करने के लिए जिम्मेदार Trinitarian Origen स्कूल के सिद्धांत की शाश्वत और Coequal Sonship (एक बेटे कालातीत)।

 

 

स्कूल के छात्रों के लिए अन्य Origen Eusebius जैसे अन्य पख्र लिया है कि शिक्षण Origen के पुत्र सशरीर माया माना जाता था-पूर्व अधीनस्थ बनाया गया था. इस प्रकार के बीज बोए और Arianism Trinitarianism Origen दोनों में इससे इनकार नहीं किया जा सकता है जिसे शब्दाडम्बर की शैलीनोट: Origen के प्रभाव के माध्यम से जारी रहा जब तक उनके विद्यालय में उनकी मृत्यु के बाद उनकी रचनाओं के रूप में प्रयोग किया गया है और अपने विद्यालय की शिक्षाओं का मुख्य स्रोतइसलिए विद्यार्थियों की Origen बन गया है और दोनों Semi-Trinitarians Semi-Arians

Semi-Arian विद्यार्थीयों के रूप देना किसी का Origen: Eusebius और सिकंदरिया है। कई अन्य रचनाओं में प्रभावित Arianism Origen द्वारा

 

 

''Gregory Thuamaturgos Origen Semi-Trinitarian शिष्य (आश् चर्य कामगार) … और Cappadocians, न्यायाधीश सर बेसिल महान Gregory Nyssa Gregory Nazianzus से प्रेरित थे, की के, सिकंदरकालीन धर्मशास्त्र (Origen की संकीर्णता से उद्धृत)" Patrology 2, स्नातकोत्तर हैं। साथ ही, 121 के अंतर्गत Quasten "ईसाई दर्शन' के पश् चात् Wikipedia कि क्लेमेंट Origen सिकंदरिया ही प्रभावित थे और यूनानी दर्शन की है।

 

 

सिकंदरिया में लिखा, ''क्लेमेंट के धर्मवेत्ता: और विचारों का प्रयोग करके, यूनानी दर्शन पर apologist मूर्ति साहित्य, दर्शन, Platonic Gnosticism तर्क देने के लिए सार्वजनिक तौर और ईसाई धर्म है।'

'Origen Origen डिजाईनिंग में प्रभावशाली थे- तत् वों को Platonism ईसाई हैं। वह उनके आदर्शवाद Platonic शामिल हैं और दो चचोश की 355लोगो, एक आदर्श का एक वास् तविक है। वह ईश् वर की दृष्टि से भी एक जोरदार Platonic, वर्णन किया है, उसके पूर्ण, अशरीरिक आदर्श' Wikipidia फैसलों की कि बाद में कैथलिक निर्माताओं द्वारा प्रभावित रहा।'Neoplatonism' (नई Platonic यूनानी दर्शन)।

 

 

"कतिपय केन्द्रीय के सिद्धांत के रूप में सेवा के लिए अंतरिम दार्शनिक Neoplatonism ईसाई धर्मवेत्ता अगस्टीन के Hippo।" यह होना चाहिए कि लगभग हर एक ईसाई Trinitarian अलार्म कोमानने एरियन और आरंभिक ईसाई लेखक था कि प्रभावशाली विकास के क्षेत्र में कम से कम थी और Arianism Trinitarianism आंशिक रूप से प्रभावित तत्वों के यूनानी दर्शन है। प् लान, कोई सबूत नहीं है कि किसी Modalistic Monarchians यूनानी दर्शन से प्रभावित थे। वास्तव में, यह सिद्ध करता है कि ये प्रमाण भर्त्सना की है!

 

 

आरंभिक उद्धृत Eusebius Modalistic Monarchian नेताओं को रोम में उन ९ी निन्दा यूनानी दर्शन से प्रभावित होने के भीतर जन्मों Hippolytus और Tertullian Modalistic Monarchian रोमन बिशप से (या Callistus Zephyrinus) लेकिन मूल कार्य समाप्त हो चुकी थी या नष्ट हो गई है।

 

 

"इन पुरुषों की पवित्र धर्मग्रंथ, अपास् विकृत निर्भय होकर शासन के प्राचीन आस्था और पता नहीं हैं और ईश् वर के धर्मग्रंथों अभित्याग ईसा … अध्ययन किया जा रहा है, वे रेखागणित, पृथ्वी के बोल, धरती के ऊपर से आता है और जो उसे अनदेखी उनमें से कुछ तो उनके मन को 'अलमजीस्ती' है, उनमें से कुछ शिष्यों के कुशल और अरस्तु Theophrastus यूनानी दार्शनिकों (एच. ई.) द्वारा उद्धृत Eusebius …' के 5, 28:13 / के प्रभाव के बारे में पृष्ठ 131

 

 

Wherefore ईसाई धर्म, यूनानी, सिद्ध होता है कि निम्नलिखित चार तथ्यों के ईसाई इतिहास साक्ष्य

इस Semi-Arians निर्माताओं के थे और इन दोनों को एरियन Trinitarian सिद्धांतों और यूनानी दर्शन से प्रभावित थे और निर्माताओं Semi-Arian यूनानी मूर्ति के विचार भी था।''demiurge Platonic द्वारा Gnostics है।

 

 

यह पूर्व के बाद धर्मशास्त्र का प्रश्नहै, जो Modalists Nicene Nicaea Semi-Arian ब्रह्मविग्यानों के विरुद्ध जबस्टन, Hippolytus, Tertullian, अलेक्जेंडिधया और Origen के क्लेमेंट - के पहले लिखी गई पंथ Niceneईसाइयों के Modalist Semi-Arian अधि ९ हो ाईहै और ईसाई धर्म के शुरू के दिनों में

ऐतिहासिक साक्ष्य नहीं है कि यूनानी दर्शन से प्रभावित थे या Gnostic Modalists

Please reload

C O N T A C T

© 2016 | GLOBAL IMPACT MINISTRIES