जॉन में वचन

“पुस्तक "निम्नलिखित अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद किया गया। अनुवादक Google Talk के माध्यम से हम यह नहीं है कि एक पूर्ण क्षमा अनुवाद हिंदी में मौलिक पुस्तक में अंग्रेजी।"

 

 

जॉन में वचन

The word in John One

 

 

Steven Ritchie


 

 

जॉन 1:1' शब्द की शुरूआत में और ईश् वर के साथ किया गया शब्द और शब्द ईश्वर है।' ' शब्दों को ''प्रारंभ में एक कविता की एक अध्याय की उत्पत्ति आधारभू त कहते हैं, '' भगवान के आरंभ में पृथ्वी और आकाश का सृजन।" कैसे ईश् वर और आकाश धरती पर पैदा करना चाहेंगे इन सभी बातों के प्रति अपनी बोली सृजित ईश्वर शब्द है।


 

ईश् वर ने कहा, ''तब उत्पत्ति 1:3 हो गया है।'' की उत्पत्ति का प्रकाश है; और 1:6 "तब प्रकाश ईश्वर ने कहा कि हमें  एक क्षितिज के बीच में पानी में विभाजित होना चाहिए; और पानी से पानी है.'' उत्पत्ति 1:9 ईश्वर ने कहा, ''तब … दीजिए और यह प्रतीत सूखी भूमि" की


 

उत्पत्ति का एक अध्याय में यह दर्शाया गया है कि ईश्वर ने आकाश धरती और उनके द्वारा बोली शब्द है। यह यंत्रों की उत्पत्ति की पुस्तक में कोई साक्ष्य से यह विश्वास है कि ईश् वर की सभी चीजें उत्पन्न इस शब् द का सृजन किया जा रहा है) या शब्द angelic (एक- दूसरे से अलग अलग देवता व्यक्ति के पास खुद और जब हम सम्पूर्ण बाइबल हम पाते हैं कि ईश्वर को सिद्ध करने के लिए अन्य ग्रंथों में, पिता और आकाश का सृजन को पृथ्वी अपनी बोली शब्द है।


 

''शब्द की 33:6-9 Psalm Yahweh स्वर्ग किए गए, और सभी होस्ट द्वारा उसके मुंह की सांस ली। 7. समुद्री जल का जुटाएगीकि वे आपस में ढेर कर देती है, उसे की गहरी रुचि … storehouses में स ९या ाया था, 9 के लिए उन्होंने ऐलन कर दिया है और वह तेजी से समर्थक हैं।" 2. पीटर 3:5 "... इस शब्द ईश्वर के स्वर्ग के 11:3 "द्वारा" Hebrews … पुरानी श्रद्धा से हम समझते हैं कि ईश्वर द्वारा बनाए गए थे लोकों ….''

 

 

भजन 33: 6 , कि यहोवा परमेश्वर ने आकाश , बनाया " उसके मुंह से सांस द्वारा की गई। " अब हम भगवान के कथित आदमी निर्धारित करने के लिए करना चाहते हैं और हम के लिए एक खोज " किसी को खोजने के लिए बाइबल के मुंह जो वास्तव में कहा कि कोई रचनात्मक यशायाह 64: 8" बनाने की जरूरत है प्रभु, आह, तू हमारा पिता है । हम मिट्टी कुम्हार आप कर रहे हैं , ; हम अपने सभी हाथ कर रहे हैं ।

 

 

मलाकी 2:10 " हम एक मानव पिता की जरूरत नहीं है , एक नहीं भगवान ने हमें बनाया? " यशायाह 44:24 यह पता चला है कि हमारे पिता में से एक सब बातें "आजादी " और अपने ही बनाया। "मैं भगवान हूं कि वे सभी बातें लोगों को बनाने के लिए, तन्यता स्वर्ग ; । जो विदेशों में पृथ्वी को खुद फैल"

 

 

अब हमें यूहन्ना 1 के सुसमाचार के लिए वापसी करते हैं : 1 - "आदि में वचन था, और वचन परमेश्वर के साथ था , और वचन परमेश्वर था।" उनके शब्दों यशायाह 64 का निर्माण किया था : 8 और मलाकी 2:10 साबित ? यह देवताओं और खुद को " सब कुछ बनाया " का पिता है। चूंकि "कविता " 33: 6 कहते हैं, " यहोवा का वचन बनाया है, और बना उसके मुंह से सांस के द्वारा सभी मेजबान" केवल एक भगवान, पिताजी ने हमें सब बनाया ।

 

 

जॉन 1:1'शब्द की शुरूआत में और शब्द ईश्वर के साथ था , और पिता] [Theos = शब्द ईश्वर पिता] [Theos = 17:3 राज्यों में कि ईश् वर से'' जॉन पिता है, ''हम' शब्द का निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि ईश्वर ही सही, जो ईश् वर के साथ अपने पिता के प्रारंभ से ही किया गया था , जो खुद को selfsame शब्द ईश्वर पिता 'संयोग' का प्रयोग के विरूद्व जॉन ग्रीक [Setup] ['' शब्दों के बीच में और दो बार इस बात की पुष्टि करता है कि ईश्वर के लिए प्रयुक्त theos] " "theos प्रत्येक शब्द का उपयोग करने के लिए ईश्वर के बारे में बोल रहा है।] [ईश्वर पिता इसलिए हम सही व्याख्या जॉन 1:1 निम्नानुसार है:- ''प्रारंभ किया गया, और शब्द ईश्वर के साथ किया गया शब्द (पिता) और 'ईश् वर (पिता)।


 

और Trinitarians Arians को विश्वास है कि ग्रीक शब्द "theos' ( 1:1) में दो बार इस्तेमाल जॉन को बोलने की दो भिन्न व्यक्तियों को ईश् वर के बजाय केवल एक असली पिता है। अभी तक कोई साक्ष्य में पाठ को यह सु३ााव है कि ईश्वर के लिए" "Theos शब्द ईश्वर का लगभग दो बोल रहा है। Trinitarians को विश्वास है कि दूसरे शब्द का उपयोग'theos] [' में ईश् वर को जॉन 1:1 का जिक्र करते हुए 'बराबर एक व्यक्ति, जो ईश् वर] [' theos नहीं है। इसी प्रकार, Arians (Jehovah गवाह) को विश्वास है कि दूसरे शब्द का उपयोग'theos' (ईश् वर) से कम नहीं है, जो ईश् वर] [theos पिता है।

 

 

तथापि, यह मानना है कि ''शब्द गढ़ना वाहियात बात है, ईश् वर के साथ प्रयोग के लिए दो बार theos'' ''काई [Setup] और उनके बीच संयोजन के बारे में बोलते हुए एक समान या उससे कम है, ''theos' (ईश् वर) व्यक्ति है। यदि कोई दूसरा व्यक्ति को ईश् वर के उद्देश्य था, तब हम कुछ इस प्रकार पढा जाना चाहिए था, ''शब्द की शुरूआत में और दूसरा शब्द और ईश् वर के साथ किया गया शब्द ईश्वर है।" Trinitarian और एरियन होने वाले स्वयंस्फूर्त उत्परिवर्तनों हैं जब वे केवल अपने व्यक्तिगत पख्रपात आग्रह है कि ईश्व र के पास एक व्यक्ति (theos) का उद्देश्य यह है कि पिता है।

 

 

दोनों Trinitarians और गुच्छियों का स्पष्ट अर्थ है Arians जॉन 1:1 पृः एक व्यक्ति को ईश् वर पाठ के कारण स्पष्ट अर्थ जॉन 1:1 का समर्थन करता है कि ईश्वर की धारणा modalism (ईश्वर पिता) है। के अनुसार दो अलग-अलग हैं, Arians Trinitarians और ईश् वर के लिए दो भिन्न व्यक्तियों और अर्थ' शब्द 'शब्द में है। उनका मानना चाहिए जो ईश्वर शब्द में तथा दूसरे शब्द नहीं है जो निजी व्यक्तिगत है। चूंकि इस शब्द से बाहर चले गये, जो ईश् वर के अलावा किसी दूसरे व्यक्ति के मुंह नहीं किया जा सका, स् वयं ईश् वर क  कहना है कि वे शब्द का उपयोग (रजिस्टर्ड) में जॉन 1:1 है और दिव्य व्यक्ति के पास ईश्वर पिता का उल्लेख किया है। इसलिए वे ईश्वर के दो व्यक्तियों को धर्मग्रंथों मोड में विश्वासकरना दोनों और दो में उपयोग के लिए एक शब्द "लोगो'', दैवी ईश्वर के अलावा ईश्वर पिता के लिए एक निर्वैयक्तिक शब्द, जो ईश् वर के मुंह से अभ्यावेदन प्राप्त आगमों के पिता है।


 

इसके अतिरिक्त, ग्रीक शब् दों का प्रयोग किया गया था, ''के रूप में अनूदित" "पेशवरों टन theon ईश्वर के साथ" "ईश्वर से संबंधित शाब्दिक अर्थ है।' डॉ. Luginbill (यूनानी विद्वान) ने स्वीकार किया कि ''बता सकते हैं, ''1:1 टन theon" "… जॉन का अर्थ यह नहीं है और प्राय:' को तथा सबसे खराब बात तो यह है कि ''शब्दों का अर्थ ….'' का इस्तेमाल भी बता टन theon Hebrews में 2:17 तथा उन्हें "ईश्वर का अनुवाद किया है।''

 

 

17:2 Hebrews सेसंबंधित है कि वह दयालु तथा सच्चा उच्च-पुरोहित, बन गई बातों से संबंधित आमरण अनशन ईश्वर है।" यूनानी की जांच से पता चलता है कि यह theon पाठ को यहां दी, ''वाक्यांश पेशवरों टन [Setup] से संबंधित बातों में आमरण अनशन ईश्वर है।' इस 3.3खंड 1:1 के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश जॉन अधिक लगभग सभी अनूदित किए गए थे जो विद्वानों Trinitarian अनुवाद बाइबल के शब्दों में, "ईश्वर से आग्रह है कि श्रेष्ठ" यूनानी मूल से अनुवाद; लेकिन कम से कम हमें इस तथ्य को ध्यान में मूल ग्रीक शब्द "ईश्वर से संबंधित शाब्दिक अनुवाद है।"


 

अत:, जैसा कि एक व् यक् ति की स् वयं ईश् वर, शब्द के मुख् य शब् द से संबंधित है। पहली शताब्दी यूनान के शब्दों का प्रयोग Josephus Flavius इतिहासकार बता theon' (9:236 टन में) पुरावशेष का अनुवाद किया था जिसे बाद में निम्नानुसार हैं: "राजा Jotham सच्चा था से संबंधित बातों में पवित्र (ईश् वर)"

 

 

"अनुवाद पेशवरों टन theon' में ईश् वर के साथ जॉन 1:1 नहीं बता दे देना सही अर्थ' ' (ईश् वर) से संबंधित theon टॉन ने अनुवादकों की जा सकती है क्योंकि Trinitarian पाठ के लोगों से यह स्पष्ट modalistic धर्मशास्त्र है। ग्रीक शब्द स्पष्ट बोलने की मूल शब्द के रूप में जो शब्द स्वयं ईश्वर के लोगो] [ स् वयं ईश् वर से संबंधित है। इसलिए केवल एक मनुष्य के रूप में अपने स् वयं ईश् वर के अपने शब्द शब्द-9, ताकि -9 भी कर सकता है।

 

 

6:33 Psalm साबित कर देता है कि देवता स्वर्ग' द्वारा सृजित Yahweh सांस का निर्धारण करने के लिए अपने मुंह।" अब जो कथित दैवी व्यक्ति ने पैदा करने की आवश्यकता है , जिनका मुंह की खोज के धर्मग्रंथों का पता लगाने के लिए वास्तव में रचनात्मक बोलना 8:64 Isaiah Yahweh करते हैं, तो आपको अपने पिता को "ओ. हम मृत्तिका करते हैं, तो आपको अपने कार्य के कुम्हार हैं; हम सब का हाथ है।


 

2:10, ''हमने एक पिता Malachi नहीं है, हम एक ईश्वर नहीं बनाया जाता है तो 24:44 Isaiah?' को सिद्ध करने के लिए कि हमारी एक ईश्वर पिता के सृजन के सभी बातों' और स् वयं ही है.'' 'मैं उन सभी बातों के सामने जो Yahweh बनाता है; जो विदेशों में फैलता है; केवल सीवेजसंग्रहण आकाश धरती से हूं।"


 

अब हमें 1:1 ----- ''जॉन लौटने के आरंभ में था, और शब्द ईश्वर के साथ था, और शब्द ईश्वर शब्द' शब्द का, जो वास्तव में पैदा हुआ है? 8:64 तथा 2:10 Malachi Isaiah सिद्ध होता है कि यह ईश्वर पिता जो '' खुद ही सभी चीजें उत्पन्न' और 33:6 कहते हैं, ''चूंकि Psalm द्वारा किए गए Yahweh स्वर्ग के शब्द और सभी होस्ट द्वारा ही किया जा सकता है।" मुंह का झोंका एक ईश्वर पिता और हम सभी बनाया है।

 

 

ग्रीक शब्द 'मूल' शब्द 'लोगो' शब्द का अनुवाद हुआ ग्रीक उपर्युक्त बीतने के साथ है। इसी ग्रीक शब्द 'लोगो' का भी प्रयोग में जॉन 1:1 होता है। हो सकता है कि किसी शब्द (रजिस्टर्ड) किंगडम के किसी अन्य व्यक्ति के पास है ? ईश्वर है.'' स् पष् ट नहीं है! किंगडम के शब् द 'तर्क, तर्क, जिसमें उनके विचारों' या ईश्वर का उद्देश्य और योजना किंगडम के रूप में हो सकता है कि लोग इस तथ्य से प्रदर्शित किया गया है।'' इसी समझ नहीं आया, ''जॉन 1:1 है, शब्द "लोगो' का भी उल् लेख किया है, ईश् वर की गणना करने के उद्देश्य से और विचारशील योजना, जो भगवान ने पहले ही तार्किक थोड़ा पहले वे सभी बातों का सृजन अत:, उस शब्द ईश्वर का दूसरा व्यक्ति (ईश्वर coequal नहीं जा सकता या छोटी) Trinitarianism व्यक्ति (ईश् वर) के पास खुद Arianism


 

ईश् वर के बेटे ने स्पष्ट रूप से एक शुरूआत 3:14) और (रहस्योद्घाटन (2:7) Psalm begetting ''नामक पुत्र के सृजन के सभी FIRSTBORN Colossians (1:15)' ' ''था क्योंकि उन्हें firstborn और दिमाग में ईश्वर की योजना (रजिस्टर्ड) को वास्तव में संसार के समक्ष सृजन के सभी शासक बनाया जाए। 4:17 साबित करता है कि "ईश्वर कॉल्स विविसंहिताएं , जो उन बातों को नहीं है।"

 

 

अत: वे पहले ही किया गया था, में firstborn क्राइसट तर्क, विचारों, ईश् वर के कारण] [लोगो के पहले कुछ अहस्तक्षेप ईश्वर द्वारा उनकी सर्जनात्मक है। 13:8 सिद्ध होता है कि इस तर्क के रहस्योद्घाटन ईश्व र के साथ ही था क्योंकि उनकी योजना और ईश् वर के प्रयोजन के बारे में पहले से ही मेमना 'धरों संसार की सृष्टि से इस योजना का उद्देश्य ही ईश्वर है।'' 07 . सृजित वास्तव में संसार के समक्ष इसलिए नामंजूर कर दी गयी थी और ईसा पूर्व संसार की सृष्टि' (1) को 1:20 पीटर शासक और ईश् वर के सृजन के सभी उत्तराधिकारी वास्तव में संसार के समक्ष बनाया जाए।


 

"... Hebrews 1:3 ने पिछले दिनों की बात करना हमें उनके पुत्र द्वारा नियुक्त किया है, जिन्हें वह इन सभी बातों के उत्तराधिकारी …' ''आपने 7-8 1:Hebrews ने उन्हें कम से कम है तो आप को उसके साथ देवता; और सम्मान और प्रतिष्ठा पर नियुक्त कार्यों को अपने हाथ में जकड़े; आपने इन सभी बातों के लिए" के अधीन उनके पैरों में इन सभी बातों को छोड़ दिया, वह कुछ अनुशासनात्मककार्रवाई के अध्यधीन नहीं है। लेकिन अब हम सभी बातों को होते देख नहींहै.''

 

 

''पश्चिमी देशों को धन्य 1:Ephesians ईश्वर और पिता की हमारे प्रभु ईसा मसीह रक्षा … समज्ही हमारे समक्ष उनके संसार की सृष्टि करना …. हमारे पास predestined को अपनाने के पुत्रों ने स् वयं उन् होंने हमें स्वीकार्य … ईसा मसीह रक्षा के प्रिय रचना ईसा पूर्व में स्वीकार्य [Setup] … जाने से ज्ञात रहस्य की उनकी इच्छा के अनुसार, जिसे उन्होंने खुद अपने पिता की और ईश् वर के लिएकिसी में खुशी की बात करते हैं जैसे कि, स्वयं को ईसा की संपूर्णता कीसीमा के समय वह इन सभी बातों में एकत्रित हों, दोनों में से एक हैं जो आकाश में ईसाई हैं और जिन्हें धरती- उनके।"

 

 

लोगो में 1:1 है, तर्क, जॉन उद्देश्य और ईश् वर के पास विश्व में जो ईश् वर की योजना बनाई गई थी। इस तर्क को शामिल किया गया है और इस प्रयोजन के लिए ईश्वर के साथ-साथ सभी बातों में एकत्रित योजना redemptive ईसा है। ससीम मानव को समझने के लिए यह कठोर उपायों की असीम ईश् वर जो ''कॉल्स जिन्हें उन बातों को नहीं थे (4:17)"

 

 

ईश्वर की बात विविसंहिताएं, इन सभी बातों के माध्यम से ईश्वर के कारण अपने लोगो ईसा के सृजन/शब्द शामिल हैं, उनके तर्क की वजह से, योजना, जो स्वयं में संसार के समक्ष'' पर भी एतराज बनाया था। ईश्वर के मन में पहले से ही विद्यमान है, ईसा पूर्व योजना और उनका उद्देश्य और आकाश धरती पर वास्तव में बना हुआ है। इन सभी बातों के साथ पढ़े सिखाता है कि ईश्वर ने हड़ताल करने के किरदार ईसा को ध्यान में रखते हुए "सभी बातों को उनके द्वारा बनाया गया था और उन्हें 1:16)" (Colossians क्योंकि वे बने पुत्र शब्द/तर्क और ईश् वर के कारण///योजना के पिता है। प्रारंभ में, ''शब्द की थी और इस शब् द को ईश् वर के साथ (पिता) और ' ईश्वर पिता ----- (1:1)" के पिता जॉन ने कहा है कि केवल 17:3.'' वे ईश् वर (जॉन होना चाहिए कि शब्द है जो बाद में 1:14) के रूप में बने मांस (जॉन ने ''का एक अंग के रूप में हमें' को उदघाटित Yahweh मनुष्य (53:1) Isaiah

 

 

यदि एक व्यक्ति' शब्द की घोषणा नहीं की गई तो देखो ईश्वर पिता है जो शब्द मसीह? अपने नहीं बोले। 14:10 "मैं शब्दों जॉन ने स्वीकारा आप मुझे बोलने के लिए नहीं बल् कि मेरे पिता है : मैं अपने निवास करता है, वह इस कार्य में doeth" यदि ईश्वर के पुत्र और अलग अलग होता है, तब वह व्यक्ति होता है कि ईश्वर coequal सभी गुणों का सही ईश्वर व्यक्ति है। इसलिए उन्होंने कभी अपने पिता को ईश् वर पर निर्भर रहना पडता है, क्योंकि वे शब्द पाये बोलने के लिए अपने शब्दों द्वारा अपनी सत्ता को सच्चे अर्थों में भगवान व्यक्ति है। इस प्रकार इससे Arianism Trinitarian सोचा है!


 

[2 उन्होंने houtos जॉन 1:2.3 प्रारंभ में था।]/इस = ईश्वर के साथ है। 3. सभी चीजें अस्तित् व उनके माध्यम से [रिक्शों/और उसके अलावा इस = 1] [रिक्शों/] कुछ अस्तित्व में आया कि इस = आ रही है। ग्रीक शब्द 'कार्य'' और

 

 

'houtos ऑटोज के समान है।' 'इस शब् द को अंग्रेजी में अंग्रेजी के समान हो सकते हैं, वे' शब्द "यह उल्लेख करना या तो एक अचेतन उद्देश् य या किसी व्यक्ति है। इस संदर्भ में, जो इन शब् दों का प्रयोग कर रहे हैं तो तय करेगा' शब्दों का उल्लेख होना चाहिए किसी व्यक्ति या अचेतन उद्देश् य के लिए है।

 

 

ग्रीक शब्द "houtos'' के रूप में अनूदित किया जा सकता है'' और ''ऑटोज के अंग्रेजी अनुवाद सही ढंग से अधिक शब्द 'हैं लेकिन वे अंग्रेजी के साथ इस शब्द "यहां के कुछ उदाहरण है।" 5:20] [houtos जॉन 1 कहते हैं, ''यह सच है कि ईश् वर और 2:20, ''तब जीवन की अनंत है।" जॉन ने कहा है कि पिछले 40 वर्षों से यहूदियों लिया जाएगा और आप इस मंदिर के निर्माण के लिए उठाया गया है [रिक्शों] में तीन दिन?''

 

 

मुस्लिमों का पता चलता है कि हमारे ऊपर इबण्डयन ग्रीक शब्द "houtos' और 'रिक्शों'' ''' के रूप में अनूदित नहीं किया जाना चाहिए जब तक व े वास् तव में उल् लेख को 'शास्त्र के संदर्भ में से केवल 1:1.'' शब्द का उल्लेख जॉन [Setup] लोगो का उल्लेख है, जव िचार, तर्क, तर्क, या अचेतन "ईश्वर के भाषण का तर्क है कि ''प्रारंभ में यथोचित रूप से नहीं किया जा सकता है।'' के नाम से एक निर्वैयक्तिक ईश्वर की जानी चाहिए। यदि वह अभीष्ट जॉन ने लिखा, ''प्रारंभ में पुत्र था और उनके पुत्र को ईश् वर के साथ …" का प्रयोग करने के लिए चुना इसलिए ग्रीक शब्द 'लोगो' शब्द जॉन] [ईश्वर है; दूसरे, हम यह मान लेना कि स्वचालित रूप से ईश्वर निर्वैयक्तिक व्यक्ति होना चाहिए । पाठ में अंतर्वेशित किया


 

4] [उन्हें यह जान गया और जीवन का प्रकाश है। 5 प्रकाश अंधकार में विराजती है और इसे सबम्मलित करना नहीं है, जिसे अंधकार 1:5 के संदर्भ में दैवी प्रकाश जॉन ईश्वर की शानदार की उपस्थिति, जो हमारे ग्रह सूर्य चमका को अंधेरे में पहले बनाया गया है। ईश् वर ने कहा, ''तब उत्पत्ति 1:3 हो गया।" अत: हल्के हल्के; और 1:4 का उल्लेख नहीं जान बोला, ''उन्हें' शब्द के पूर्व के अवतार माना जाता है। ऐतिहासिक साक्ष्य का अनुवाद जॉन 1:3-4 निम्नलिखित जॉन Cordaro की वेब साइट से लिया गया था, ''वह शाश् वत अच्छी खबर है।"


 

हम अंग्रेजी बाइबल के Yahweh पिछले छ: सौ साल का धीरे धीरे विकास हुआ। जॉन रिकार्ड़स देखने का अंग्रेजी अनुवाद का पहला जमा होता है जो 1380 में सी.ई., दिनंाक न्यू टेस्टामेंट कार्य पूरा कर लिया गया था। उस समय तक शब्द लैटिन भाषा में फँसी Yahweh की थी , जो आम लोगों के लिए अनभिज्ञ थे। लैटिन अनुवाद Vulgate के लगभग 400 सी.ई., दिनंाक बाइबल के मानक जेरोम द्वारा इस्तेमाल के रोमन कैथोलिक चर्च पर है। रिकार्ड़स देखने के अंग्रेजी अनुवाद का आधार है, न कि यूनानी भाषा Vulgate लातीनी अत: यह एक 'अनुवाद का अनुवाद है।' के अंग्रेजी अनुवाद रिकार्ड़स देखने में जॉन 1:3-4 शब्द का उपयोग, ''उन्हें' के संदर्भ में ''शब्द' है और 'लैटिन अनुवाद की एक कविता 1 ipsum'' और ''सकता है.'' (या वह)।


 

अगला महान अंग्रेजी अनुवादक विलियम Tyndale है। वह एक उत्कृष्ट यूनानी विद्वान जिन्होंने तक पहुंच प्राप्त करने के लिए, पाठ में ग्रीक Erasmus नहीं हैं रिकार्ड़स देखने भगवान का हाथ था कि वह हमें पहली देने के लिए प्रयुक्त Tyndale अंग्रेजी अनुवाद पर आधारित हिब्रू तथा यूनानी है। सन् 1526 में प्रकाशित किया गया था और संशोधित करने के लिए अपने न्यू टेस्टामेंट अपनी अंतिम राज्य में 1534 है।

 

 

Tyndale का अनुवाद है, "सभी बातें जान 1:3-4 पढता है और इसके बिना द्वारा बनाया गया है कि कुछ नहीं किया गया है। यह जीवन और जीवन में किया गया है।'' के रूप में पुरुषों का प्रकाश है , आप देख सकते है।'' का इस्तेमाल करने की बजाय उसे Tyndale''''''' या '' शब्द का अर्थ' के अनुवाद में ग्रीक autou"

 

 

" या "क्या यह कहते हैं, ''यह बताता है कि एक पूर्व-Tyndale नहीं पढ़ा सशरीर माया माना जाता था।" शब्द 'लोगो' या 'मसीहा के श्लोक 1 और वह लातीनी Vulgate या रिकार्ड़स देखने से प्रभावित नहीं है। मील Coverdale, मित्र, Tyndale ने हमें सबसे पहले 1535 में अंग्रेजी में प्रकाशित बाइबल पूर्ण है।

ऐसा नहीं था , लेकिन यूनानियों का अनुवाद वनस्पतिक पादपोन के इब्रानी और लैटिन पर आधारित था और Vulgate Tyndale के अंग्रेजी अनुवाद ''उन्हें" में प्रयुक्त Coverdale जॉन 1:3-4.


 

1537 में, जॉन रोजर्स का प्रयोग करते हुए," "उन्होननेन करीब थामस रोए अनुवाद आधारित मोटे तौर पर प्रकाशित किया जाता है और Tyndale Coverdale 0640 बाईबिल के रोए वे कहते हैं , ''का प्रयोग करता है. 3-4 1:जॉन।" महान बाइबल के बाद, जो 1539 में किया गया था और इसे बाईबिल के परिशोधन के रोए पहला संस्करण तैयार किया गया था।

 

 

Coverdale मील कुछ कारणों से ज्यादा सही था.'' ''यह फैसला Coverdale उसे ''1535'' में छपी उसकी संस् करण पर आधारित लैटिन Vulgate और वामपंथी जॉन 1:3-4 था.'', "इसका अनुवाद का रोए में ''के बजाए उन्हें।" महान बाइबल की पहली अधिकृत अंग्रेजी संस्करण था और प्रत्येक चर्च में रखी जाने का आदेश दिया।


 

मुद्रण के अंतर्गत े९ क्वीनमैरी ९ॉलेज और उसका उपयोग में अंग्रेजी बाइबल समाप्त गिरिजाघरों वर्जित है। इस संस्करण में पूरा जिनेवा दिया। जेनेवा बाइबल के निर्माण 1560के पहले बाइबल के लिए एक अलग से प्रत्येक छंदों संख्यांक पैराग्राफ है। ''घरेलू बाइबल के इस बाइबल बन गया है.'' के अंग्रेजी बोलने वाले देशों में लगभग 75 वर्षों के लिए स्थिति यह है कि यह था कि जो Puritans शेक्सपीयर के बाइबल और इंग् लैंड के नए बसे एक बार फिर से निम्नलिखित 1:जॉन का अनुवाद Tyndale का उदाहरण है, '3-4 की बजाय "थे।"


 

महारानी एलिजाबेथ अंतत: विरूउ करा ई ग ई कि आदेश की प्रति अपनी प्रोत् साहित किया और वह हर चर्च बाइबल में रखा है। चूंकि यह पर्याप्त नहीं है , अपने महान बाइबल की प्रतियां नया संशोधन के रूप में जाना जाता था, नेशनल काउंसिल ऑफ चर्चेस इन इंडिया बिशप का बाईबिल 1568 में प्रकाशित किया गया था। अधिकतर उपयोग नहीं किया जा रहा था, पादरी को आम जनता के बहुत लोकप्रिय यह भी उपलब् ध कराता है, ''यह नहीं जान 1:3 का प्रयोग करके उसे ''


 

1582'' में, रोमन कैथोलिक संस्करण का कार्य पूरा हो गया है तथा न्यू टेस्टामेंट' के नाम से न्यू टेस्टामेंट Rheims है। यह युद्ध का परिणाम के बीच Papists और प्रोटेस्टेंट के पूर्व के स्तर पर यह भरोसाकर लेटिन Vulgate सभी अनुवाद किया जाना चाहिए। यह कार्य करने के रोमन कैथोलिक विद्वानों के आधार पर लातीनी वे उन्हें 'प्रयोग करने के लिए चुना है.'' के रूप में 1:जॉन ने पिछले संस्करण में 3-4 पर आधारित है।

 

 

Vulgate अंग्रेजी रूपान्तर, भविष्य में अनेक पर उस दृष्टि से राजा के साथ आरंभ किया है, उसे ''1611'' के अध्यक्ष जेम्स संस्करण की बजाय उनके अनुवाद में 'जॉन 1:3 है। अत: यह एक ऐतिहासिक और भाषाई आधार के बिना नहीं ग्रीक शब्द "अत्यधिकयातायात का अनुवाद'' और ''houtos' में इस प्रकार की गयी थी "3-4 1:जॉन"" या "आइये अब जरा अधिक शाब्दिक अनुवाद है।


 

इस 2-4] [houtos/1:जॉन ने आरंभ में ईश् वर के साथ है। इन सभी बातों के माध्यम से अस्तित्व में आया] [रिक्शों/और इसके अलावा इसमें कुछ भी अस्तित्व में आया] [रिक्शों/ है । इस जीवन में, और जीवन का प्रकाश है।' 'लोगो' (पुरुष) शब्द जॉन 1:1 के रूप में परिभाषित किया गया है, तर्क, अभिव्यक्ति, मुखीय सामूहिक रूप से क्षमावाणी पर्व बोली (जिसमें शब्द 'अभिव्यक्ति') सोचा निम्नानुसारविस्तृत रूप से संबंधित है, या Yahweh मौखिक तर्क है.''

 

 

' शब्द का अर्थ में, ''यह कहते हैं, ''यह"" या "और न कोई व्यक्ति है। 'लोगो' शब्द अभिव्यक्ति या लिंग के बिना किसी भी चीज (व्यक्तित्व)। दूसरा रास्ता बताया है, अस्तित्व में बोले Yahweh सृजन उनके द्वारा अपनी बोली शब्द अभिव्यक्ति, मौखिक इस सम३ाौते के बिल्कुल सहमत पाठांशों जैसे जनरल1:3,6,9,11,14,20 और 24, जो कहा था, "Elohim Yahweh शुरू किया गया है।'' और बोले। 33.हराएंगे:6,9 कहते हैं, ''मैं इस शब् द (मुखीय ) की अभिव् यक् ति थे; और सभी होस्ट किए आकाश Yahweh द्वारा सांस के मुंह में | . . उन्होंने कहा गया है और वह तेजी से उठ खड़ा हुआ है और यह ऐलन।"


 

ने न सिर्फ Yahweh बोलने के सृजन के अस्तित्व में है लेकिन वह भी बोले। उनके पुत्र अस्तित्व में ''शब्द की बात कही गई थी) शब्द (Yahweh' (4. 1:14) सर्वत्र मांस मुस्लिमों के एक कविता का समर्थन नहीं रहने के पूर्व सशरीर माया माना जाता था। मसीहा अत: ,'तक के पुत्र की घोषणा नहीं की गई थी।'' शब्द Yahweh मांस (जॉन 1:14तथा 1:35) हमारे बीच ल्यूक/विस्तार के रूप में उन्होंने है।

 

 

'लोगो' कहने की जान 1:1 का उल्लेख है, उसे'' को पढ़ने में मसीहा है, जो पाठ का समर्थन नहीं किया जा सकता. मुस्लिमों द्वारा रोमन कैथोलिक विद्वानों ने उनकी सहायता करने के उद्देश्य से इस unscriptural त्रिमूर्ति सिद्धांत है। यदि मसीहा नहीं-पूर्व मौजूद है, यह सिद्धांत पर आधारित, धराशायी त्रिमूर्ति धारणा है कि सभी तीन सदस्यों के देवता थे सह-अनंत है। तथापि, चूंकि केवल मसीहा के पूर्व में विद्यमान Yahweh की योजना नहीं है और मोक्ष की पूर्व-अस्तित्व अक्षरश: यह स्पष्ट हो जाता है कि जो मूल सिद्धांत का कायल त्रिमूर्ति द्वारा समर्थित नहीं है. शास् त्र


 

"वह विश्व में जॉन 1:10-14 और दुनिया के जरिए किया गया और उन्हें नहीं मालूम कि दुनिया 11 उसने अपने और अपने थे जो उन्हें प्राप्त नहीं हुआ है। लेकिन, उन्हें 12 5.09प्राप्त करने का अधिकार दिया गया है , जो ईश् वर के बच्चों को भी उनके नाम में विश्वास पैदा नहीं थे, 13 रक्त का और न ही की जाएगी, लेकिन मनुष्य के शरीर का और न ही ईश्वर का है। मांस और विस्तार 14 और शब्द बन गया है, उसकी प्रतिष्ठा, गौरव और हमने देखा कि हमारे बीच में ही पूर्वजनित पिता से भरपूर, शालीनता और सत् य'

 

 

सूचना कैसे कर सकते हैं कि अनुवाद शास्त्र के पारित होने के ऊपर '" या "अपने।" शब्द बन गया है कि "यह एक शब्द का विस्तार नहीं रह गया था, लेकिन वास् तविक आदमी'' या ''यह व्यक्ति है। चू ंकि यह शब्द (रजिस्टर्ड) ईश्वर शब्द ईश्वर से संबंधित हैं, ''दुनिया के माध्यम से ईश्वर पिता' शब्द है जो मनुष् य के बाद बन गया।" अत: यह स्पष्ट है कि ईश्वर को ईसा मसीह पिता के सृजन के सभी बातें उसके शब्द और उस शब्द (रजिस्टर्ड) "ईश्वर के कारण थे, सोचा था जिसे ईश् वर के हृदय में तर्क और' शुरू से ही है।


 

अत: इन सभी बातों के माध्यम से ईश्वर पिता सृजित किया है जिसमें उसके शब्द पूर्वनिश्चत योजना मानवता को बचाने के लिए मनुष् य द्वारा बोली जाती है जो ईसा मसीह को 'शास्त्र में लाम्ब धरों से 13:8 संसार की सृष्टि (रहस्योद्घाटन);'' '' firstborn सृजन के सभी Colossians (1:15);'' तथा" "ईश्वर के सृजन की शुरुआत 3:14) (रहस्योद्घाटन।" के धर्मग्रंथों और उनके मसीहा साबित करने के लिए चुन में ईश् वर के redemptive योजना (शब्द/लोगो = तर्क, तर्क, विचारों, संसार की सृष्टि के समक्ष भाषण) (1 पीटर 1:20:4 से 25:16 विविसंहिताएं/1 Ephesians /)।

 

 

के खुलने गास्पेल का एक सुंदर तरीके से पता चलता है कि सादे सच में जॉन प्रारंभ से ही, इन सभी बातों को अपने शब्द बनाने के लिए ईश्वर को चुना है, जो ईश् वर के कारण अपने तर्क को शामिल करने के उद्देश्य से, जो कि एक व्यक्ति के रूप में ही स्वयं सर्वाधिकमहत्वपूर्ण और योजना के अपने तर्क, कारण और कार्य योजना सेसंबंधित है। इस प्रयोजन के माध्यम से ईश्वर के कारण और कुछ नहीं किया गया है और सभी बातों की योजना बना रहे हैं। इस तर्क के बाहर अब समय आ गया है, जब यह तर्कसंगत योजना की संपूर्णता में मांस बन गया है , ''Immanuel मसीहा के व्यक्ति की घोषणा को ईश्वर से हमें एक व् यक् ति के रूप में है।" जब हम यह सम३ा के खुलने गास्पेल का स्पष्ट है कि हम इस तरह जॉन ईश्वर और उसके शब्द नहीं हैं और दो अलग-अलग अलग व्यक्तियों में से एक है और selfsame ईश्वर है।

 


जॉन 1:1'शब्द की शुरूआत में [तर्क, विचारों, कारण और कार्य योजना के उद्देश्य से, ईश् वर के साथ किया गया शब्द और पिता] (पिता) और 'ईश् वर ( पिता) है.''

Please reload

C O N T A C T

© 2016 | GLOBAL IMPACT MINISTRIES